180.59 लाख लोगों ने बदली अपनी मोबाइल कंपनी

Posted By: Staff

180.59 लाख लोगों ने बदली अपनी मोबाइल कंपनी

दिन पर दिन एमएनपी सर्विस को प्रयोग करने वाले उपभोक्‍ताओं की संख्‍या में बढोत्‍तरी होती जा रही है इससे एक बात तो साफहो गई है कि कोई भी टेलिकॉम कंपनी पूरी तरह से ग्रहकों को संचार सेवा देने में सफल नई हो पाई है वरना इतने बड़े स्‍तर पर लोग अपने संचार आपरेटर को न बदलते।

अगस्त महीने के आखिर तक मोबाइल नम्बर पोर्टेबिलिटी को इस्‍तेमाल 180.59 लाख यूजरों ने किया है भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण द्वारा निकाले गए यह आंकडे़ काफी चौंकाने वाले है। एक ओर जहां दूरसंचार कंपनियों ने अपने कॉल रेटों में बढ़ोत्‍तरी की है वहीं उपकी सेवाओं दिन पर दिन और खराब होती जा रहीं है इसका एक कारण देश में तेजी से बढ़ रही मोबाइल फोन उपभोक्‍ताओं की संख्‍या भी है।

हम आपको बता दे 20 जनवरी को देश में मोबाइल पोर्टेबिल्‍टी सेवा शुरू की गई थी। इन आकड़ों में सबसे अधिक गुजरात के उपभोक्‍ताओं ने सबसे ज्‍यादा मोबाइल पोर्टेबिलिटी का प्रयोग किया जिनकी संख्‍या 17.63 लाख है। गुजरात के बाद महाराष्‍ट्रा और कर्नाटका में भी 14.77 और 14 लाख ग्राहकों ने मोबाइल पोर्टेबिल्‍टी का प्रयोग किया।

क्‍या है एमएनपी
मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा आप अपने पुराने नंबर सहित अपनी इच्छा अनुसार किसी दूसरे ऑपरेटर की सर्विस का प्रयोग कर सकते हैं। एमएनपी को प्रयोग करने के लिए 1900 पर PORT स्‍पेस अपनो फोन नंबर लिखकर एसएमएस भेजना पड़ता है एसएमएस करने के बाद उपभोक्‍ता को 8 डिजिट का अल्‍फान्‍यूमरिक कोड प्राप्‍त होता है जिसके द्वारा 24 घंटे के अंदर आपका पुराना नंबर ऑटोमेटिक्‍ली एक्‍पायर हो जाएगा।

Please Wait while comments are loading...
तमिलनाडु: शंकर मर्डर केस में कोर्ट ने सुनाई 6 लोगों को मौत की सजा
तमिलनाडु: शंकर मर्डर केस में कोर्ट ने सुनाई 6 लोगों को मौत की सजा
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot