सैमसंग डार्ट को टक्‍कर देता मोटोरोला एट्रिक्‍स

Posted By: Staff

सैमसंग डार्ट को टक्‍कर देता मोटोरोला एट्रिक्‍स

दुनिया भर में मोबाइल बनाने वाली कंपनियों में सैंगसंग और मोटोरोला शीर्ष पर हैं। मगर वर्तमान में दोनो कंपनियों में श्रेष्‍ठता को लेकर जंग छिड़ गई है। और हो भी क्‍यों ना क्‍योंकि दोनों कंपनियों ने समान रेंज और समान फिचर के कई मॉडल मार्केट में पेश किये है। डीलरशिप को लेकर बात करें तो दोनों कंपनियों ने बाजार में अपने डीलरशिप को भी मजबूत कर लिया है।

तो आइए फिर हम उन बिन्‍दुओं पर बात करते हैं जिसको लेकर दोनों कंपनियों के बीच जंग छिड़ गया है। मोटोरोला अपनी एट्रिक्‍स और सैमसंग अपने नये मॉडल डार्ट को लेकर श्रेष्‍ठता के मैदान में उतर गया है। तो चलिए दोनों मोबाइलों के फंक्‍शन पर एक नजर डालते है और खुद ही यह निर्णय लेते हैं कि श्रेष्‍ठ कौन है।

मोटोरोला और सैमसंग दोनों ने अपने इन मॉडलों को स्‍मार्टफोन की श्रेणी में रखा है। मोटोरोला की एट्रिक्‍स जहां मार्केट में उतर चुकी है वहीं सैमसंग की डार्ट कुछ ही दिनों में मार्केट में आने वाली है। दोनों ही फोन एंड्रॉय आपरेटिंग प्‍लेटफार्म और यूजर्स इंटरफेस है।
दोनों मोबाइलों के किपैड काफी सुनियोजित है। मोटोरोला एट्रिक्‍स की स्क्रिन 4.3 इंच है जबकि सैंमसंग डार्ट की स्क्रिन 3.7 इंच है। दोनों ही टच स्क्रिन फोन है। मोटोरोला में किसी भी वीडियों को देखना ज्‍यादा अच्‍छा होगा क्‍योंकि क्‍योंकि उसकी स्क्रिन 3D सिस्‍टम पर आ‍धारित है। वहीं दूसरी तरफ सैमसंग डार्ट में एफएम के साथ अन्‍य आर्कषक सुबिधाए हैं।

एट्रिक्‍स और डार्ट दोनों में हाई डे‍फनिशन एमपी 3, वीडियो कॉलिंग, एमपी4, डब्‍लूएमवी, डब्‍लूएवी, एएसी+ मौजूद है। इन दोनों मोबाइलों की तुलना करें तो दोनों में वाईफाई और 3G है मगर 3G डाटा ट्रांसफर करने में मोटोराला एट्रिक्‍स की स्‍पीड सैंमसंग डार्ट से कही ज्‍यादा है। दोनों फोन 2G तकनीक पर आधारित है।

इन सारे फिचरों के बाद अब जो मुख्‍य बात है वह है कीमत। तो हम आपको बता दें कि मोटोरोला एट्रिक्‍स मार्केट में 28000 में उपलब्‍ध है जबकि सैंमसंग डार्ट मात्र 13000 रुपये में उपलब्‍ध है। तो ऐसे में अगर बात करें तो आप कम दाम में सैमसंग डार्ट खरीद कर मोटोराला एट्रिक्‍स की सुबिधाओं का पूरा मजा ले सकते हैं।

Please Wait while comments are loading...
भाजपा से हाथ मिलाने के बाद नीतीश को सताने लगा यह डर
भाजपा से हाथ मिलाने के बाद नीतीश को सताने लगा यह डर
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
Opinion Poll

Social Counting