Subscribe to Gizbot

कॉल रेट बढ़ाने का कारण बताएं दूरसंचार कंपनियां : ट्राई

Posted By: Staff

कॉल रेट बढ़ाने का कारण बताएं दूरसंचार कंपनियां : ट्राई

ट्राई के नए आदेश पर दूरसंचार कंपनियों और ट्राई के बीच 100 एसएमएस की सीमा को लेकर बवाल बढ़ता ही जा रहा है। कुछ दिन पहले दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने एक दिन में 100 से ज्‍यादा एमएसएम करने पर रोक लगा दी थी ट्राई का कहना था कि इस नियम ग्राहकों को टेलिमार्केटिंक कंपनियों के अनचाहें एसएमएस से छुटकारा मिल जाएगा।

ट्राई की अधिकतम एसएमएस की यह सीमा 27 सितंबर से पूरे देश में लागू हो रही है। ट्राई के इस आदेश पर दूरसंचार कंपनियों ने अपनी प्रतिकिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा था इस आदेश को लागू करने में उन्‍हें काफी दिक्‍कतें आएंगी। मगर ट्राई ने इस पर पुनर्विचार करने से इंकार कर दिया है। ट्राई के अनुसार एक दिन में 100 से ज्‍यादा एमएसएम कर सीमा दीवाली, ईद और अन्य त्योहारों जैसे अन्‍य अवसरों को छोड़कर यह सीमा हर कहीं लागू होगी।

दूसरी ओर ट्राई ने भारती एयरटेल और वोडाफोन समेत प्रमुख मोबाइल ऑपरेटरों से अपनी कॉल दरों में 20 प्रतिशत की बढ़ोत्‍तरी करने पर जवाब भी मांगा है। एक ओर दूरसंचार कपंनियां अपनी कॉल दरों में बढ़ोत्‍तरी करने में लगी हुईं है तो दूसरी ओर त्‍योहारों में टेलिमार्केंटिंग कंपनियों से भी मोटा मुनाफा कमाना चाहती है। ट्राइ के कड़क रूख से फिलहाल दूरसंचार कंपनियों को कोई राहत मिलती नहीं नजर आ रही है।

ईडी को मिली नीरव मोदी की 176 स्टील की अलमारियां, 30 करोड़ का बैंक बैलेंस भी फ्रीज
ईडी को मिली नीरव मोदी की 176 स्टील की अलमारियां, 30 करोड़ का बैंक बैलेंस भी फ्रीज
South Western Railway: ग्रुप डी के बाद ग्रुप सी के पदों पर नियुक्तियां, 10 दिन के अंदर करें अप्लाई
South Western Railway: ग्रुप डी के बाद ग्रुप सी के पदों पर नियुक्तियां, 10 दिन के अंदर करें अप्लाई
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot