मोबाइल मे बिना सिग्‍नल के भी हो सकेगी बात

Posted By: Staff

मोबाइल मे बिना सिग्‍नल के भी हो सकेगी बात

बाजार में मोबाइल कंपनियों के बीच आगे निकलने की होड़ लगी हुई है जिसके चलते हर वर्ग के मोबाइल फोन उपलब्‍ध है मगर फोन मंहगा हो या सस्‍ता अगर उसमें सिगनल ही न आएं तो वह किस काम का है। मोबाइल में सिग्‍नल न आने की स्थिती में दंरसंचार कंपनियां इमरजेंसी कॉल का विकल्‍प देतीं है जिसमें एक खास नम्‍बर को डायल करना पड़ता है। इस तकनीक में सेलुलर सिस्‍टम उस फोन की लोकेशन को ढूंड़ निकालता है जहां पर आप है।

अक्‍सर देखा गया है दूरदराज के इलाकों में सिग्‍नल क्‍वालिटी इतनी खराब होती है कि बात करना मुमकिन ही नहीं हो पाता है। मगर जल्‍द ही इस मुश्‍किल से आपको छुटकारा मिल जाएगा। ऑस्ट्रेलिया की फ्लाइंडर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे कम सिग्‍नल मिलने पर भी आप फोन में आराम से बात कर सकेंगे।

शोधकर्ताओं का कहना है अगर सिंग्‍नल बिलकुल नहीं आ रहें है उस स्थिती में भी आपका मोबाइल पूरी तरह से काम करेगा। इसके लिए शोधकर्ताओ की टीम ऑस्ट्रेलिया के ऐसे दुगर्म इलाके में गई जहां पर मोबाइल सिग्‍नल नहीं आते थे मगर इस नई तकनीक के प्रयोग से उस इलाके में भी फोन ने काम करना शुरू कर दिया ।

नई तकनीक में मोबाइल फोन के अन्‍दर एक छोटा सा सिग्‍नल टावर लगा होता है जो वाईफाई की मदद से सिग्‍नल प्रवाहित करता है यही सिग्‍नल कुछ दूरी पर दूसरे मोबाइल फोन में पहुंच जाते है। शोधकर्ताओ के अनुसार यदि इन सिग्‍नल के पावर को बढ़ा दिया जाए और छोटे छोटे ट्रांसपोंडर लगाए जाएँ तो मोबाइल फोन दूर कहीं स्थित बड़े मोबाइल टावर से सम्पर्क स्थापित कर लेता है जिससे दुर्गम इलाकों में भी संपर्क हो जाता है। शोधकर्ताओ के अनुसार इस तकनीक की वजह से आपातकालीन स्थितियों में काफी मदद मिल सकती है।

Please Wait while comments are loading...
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
Opinion Poll

Social Counting