इंसानो और रोबोट के बीच की कड़ी हैं ये मशीनें

Written By:

    रोबोट यानी एक ऐसी मशीन जो जटिल से जटिल काम को भी अपने आप समझ कर कर ले जैसे हम इंसान करते हैं बस अंतर इतना है रोबोट इस समझ के मामले में हमसे थोड़े कमजोर होते हैं। रोबोट से जुड़ी ढेरों हॉलीवुड मूवी आपने देखी होंगे जिसमें रोबोट पूरी दुनिया में कब्‍जा कर लेते हैं मुमकिन है ऐसा असल में भी हो जाए।

    हम इंसानों ने रोबोट की दुनिया में काफी प्रगति कर ली अगर विश्‍वास न हो तो ये 10 वीडियो देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं हमने किस तरह के राबोट बनाए हैं।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    Osaka University’s Female Simulants

    ये सोंचा भी नहीं जा सकता कि रिसेप्‍शन या फिर न्‍यूज़ पढ़ने वाले की जगह कोई राबोट ले सकता है लेकिन ओसाका यूनीवर्सिटी ने एक ऐसा राबोट बनाया है जो न सिर्फ रिसेप्‍शनिस्‍ट का काम कर सकता है बल्‍कि इसके चेहरे में एक्‍प्रेशन भी आते हैं।

    Sophia

    ओसाका यूनिवर्सिटी सिर्फ रोबोटिक की दुनिया में ही काम नहीं कर रही बल्‍कि कई दूसरी जगहों में भी अपनी भागीदारी निभा रही है, हेनसन रोबोटिक्‍स के फाउंडर डेविड हैनसन ने सोफिया नाम का एक रोबोट बनाया है जिसे सामने से देखकर ये कहना मुश्‍किल है कि ये इंसान नहीं है, सोफिया न सिर्फ आपके सावालों के जवाब दे सकती है बल्‍कि चेहरे से अपना गुस्‍सा भी जाहिर कर सकती है।

    Underwater Snakes

    जैसा की नाम से ही आप जान गए होंगे कि ये पानी के अंदर चलने वाला सांप है लेकिन इसे इंसानों ने बनाया है, Statoil नाम के इस सांप को तेल और गेस कंपनियां जांच के लिए प्रयोग करती हैं।

    Victorian-Era Crawling Baby Robot

    ये काफी चौकाने वाली बात होगी अगर कोई कहे की हाथ से बनाई गई कोई गुडि़या अपने आप चल भी सकती है, लेकिन 1871 में Robert J.नाम के एक इंजीनियर ने ऐसी ही गुडि़या बनाई थी जिसमें ऑडियो रिकार्ड करके इंस्‍टॉल किया गया । एक तरह से कहा जा सकता है ये उस समय रोबोटिक दुनिया का शुरुआती चरण था।

    Pregnancy Simulator

    2015 में Gaumard Scientific नाम की कंपनी ने मेडिकल स्‍टूडेंट्स को बच्‍चे पैदा करने की ट्रैनिंग देने के लिए एक रोबोट तैया किया था जिसकी कीमत लगभग 62,500 यूएस डॉलर के करीब थी, इस रोबोट को इस तरह तैयार किया गया था ये उसी तरह से व्‍यवहार करे जैसे इंसान करते हैं।
    इसमें ब्‍लडप्रेशर से लेकर ऑक्‍सीजन और कई तरह के दूसरे सेंसर लगे थे जो बच्‍चे पैदा करने के दौरान उसी तरह से रिएक्‍ट करते थे जैसे इंसान करते हैं।

    Affeto the Robot Baby

    अगर आज के राबोट्स पर नजर डालें तो वे हूबहू इंसानों जैसे दिखते है लेकिन ऑर्टिफीशियल स्‍किन रोबोटिक तकनीक आने के बाद काफी आ इजाद की गई। कुछ रोबोट ऐसे भी हैं तो देखने में मशीनी लगते हैं, अफैक्‍टो नाम के इस रोबोट में न सिर्फ लचीले हाथ लगे हुए थे बल्‍कि रीढ़ भी लचीली दी गई थी।

    Spermazoidal Medical Microbots

    माइक्रोबोट एक तरह रोबोट ही है जो बैक्‍टीरिया के आचरण को देखते हुए बनाए गए हैं ये बैक्‍टीरिया की तरह ही आचरण करते हैं हालाि‍कि इन बैक्‍टीरिया रोबोट का यूज़़ मेडिकल साइंस में किया जा रहा है।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    Read more about:
    English summary
    Even leaving aside the pop culture jokes about Skynet from the Terminator series and similarly-themed science fiction that provides a violent robot revolution, the future of automation has some unsettling possibilities.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more