कैसे करें केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद ?

    लगातार बारिश और भारी बाढ़ ने केरल के बड़े हिस्सों को खत्‍म कर दिया, पिछले 100 सालों में पहली बार इस तरह बाढ़ का सामना केरल को करना पड़ा है। जिससे अभी भी कई लोग फंसे हुए हैं। बाढ़ से प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए सभी लोग प्रयास कर रहे है।

    अगर आप भी इसमें अपना योगदान करना चाहते हैं तो यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जिनमें आप बचाव और राहत कार्यो में मदद कर सकते हैं। कन्नूर जिले के डीएम ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए लोगों से इन चीजों के जरिए आपदाग्रस्त लोगों की मदद करने की अपील की है।

    कैसे करें केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद ?

    • खाना पकाने वाले बर्तन और परोसने के लिए बर्तन जैसे कि प्लेट-कटोरी आदि।
    • घर का सामान्य फर्नीचर (कुर्सियां, टेबल आदि)
    • घर में राशन का सामान रखने के लिए कंटेनर।
    • जूते-चप्पल।
    • मग और बाल्टी आदि

    ई-कॉमर्स साइटें

    अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट ने राहत प्रयासों में लगे गैर सरकारी संगठनों के साथ करार किया है।आप जब किसी भी ऐप में लॉग इन करेंगे तो आपको होम पेज पर बाढ़ राहत बैनर दिखाई देगा। अमेज़ॅन पर, आपको तीन गैर सरकारी संगठनों - Goonj, Habitat for Humanity and WorldVision का रजिस्ट्रेशन पेज दिखाई देगा - जिससे आप उन उत्पादों को चुन सकते हैं जिन्हें आप खरीद कर इन गैर सरकारी संगठनों को दान करना चाहते है।फ्लिपकार्ट ऐप, आपको उस पृष्ठ पर ले जाया जाएगा जहां आप Goonj को दान कर सकते हैं।

    PayTM ऐप खोलें और मुखपृष्ठ पर केरल बाढ़ आइकन पर टैप करें, और इसके माध्यम से योगदान दें।Paytm ने उपयोगकर्ताओं से वादा किया है कि यदि कोई उपयोगकर्ता ₹ 100 का योगदान करता है, तो Paytm भी CMDRF में ₹ 100 का योगदान देगा। यानि कि उपयोगकर्ता जितना पैसा दान करेगा,Paytm भी उतना ही पैसा CMDRF में दान देगा।
    गूगल

    Google ने केरल के लिए एक मानचित्र बनाया है जहां आप राहत कैंप, राहत अभियान, भोजन और पानी, जीप द्वारा बचाव आदि देख सकते है जिसके द्वारा आप राहत सामग्री,दवाइया आदि के लिए पिक अप और ड्रॉप-ऑफ पॉइंट ढूढ़ सकते हैं।

    Person Finder

    यदि आप किसी को खोज रहे हैं या केरल में फंसे किसी व्यक्ति के बारे में जानकारी है, तो आप Google पर्सन फाइंडर का उपयोग कर सकते हैं।

    The Chief Minister's Distress Relief Fund

    • इसके द्वारा आप रहत राशि को सीधे बैंक द्वारा ट्रान्सफर कर सकते है और इसमें यूपीआई के माध्यम से पैसा भी भेजा जा सकता है।
    • खाता नाम: Chief Minister's Distress Relief Fund
    • खाता संख्या: 67319948232
    • बैंक: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
    • IFSC: SBIN0070028
    • स्विफ्ट कोड: SBININBBT08

    सरकारी नियंत्रण कक्ष

    आप नीचे दिए गये स्थानों के जिला कलेक्टरेट और सरकारी कार्यालय में भी राहत सामग्री पंहुचा सकते है।
    • तिरुवनंतपुरम: प्रधान सचिव (वित्त) कोषाध्यक्ष, मुख्यमंत्री संकट राहत निधि, सचिवालय, तिरुवनंतपुरम - 1
    • कन्नूर: कंट्रोल रूम, कलेक्टरेट, कन्नूर - 670002 (9446682300,04972700645)
    • इडुक्की: जिला कलेक्टर इडुक्की, इडुक्की कलेक्टरेट, पानावु पी.ओ, कुयिलिमाला, इडुक्की - 685603
    • वायनाड: जिला कलेक्टर, कलेक्टरेट, काल्पेटा, वायनाड (0469204151, 9745166864, 9746239313)
    • लोगो से कच्चे चावल, उबले हुए चावल, मूंग दाल, दूध पाउडर, बेबी फ़ूड, नमक और चीनी आदि दान करने का अनुरोध किया जाता है।

    State government's rescue site

    केरल राज्य सरकार, केरल राज्य IT मिशन और IEEE केरल अनुभाग ने सहायता देने के लिए keralarescue.in को तैयार किया है जहाँ आप सभी प्रकार कि जानकारी प्राप्त कर सकते है तथा बचाव अभियान,संग्रह केंद्र और राहत शिविरों के स्थानों का पता लगा सकते है

    Read more about:
    English summary
    As Kerala battles its worst flood,the state has suffered an estimated loss of around Rs 19,512 crore as per the initial assessment. We all know that the path to recovery can be long and arduous, the chief minister of the state has urged all to contribute generously to the Chief Minister’s Distress Relief Fund.Here are some options to contribute to the needy.
    भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more