Q2 में 43% दर्ज हुई एप्पल की ग्लोबल प्रीमियम सेगमेंट की हिस्सेदारी

    स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां इन दिनों अपने प्रीमियम स्मार्टफोन को बाज़ारों में उतारने के लिए जुटी हुई है। हॉन्ग-कॉन्ग की काउंटरप्वाइंट फर्म की रिसर्च के मुताबिक साल 2018 के क्वार्टर 2 यानि दूसरी तिमाही में ओवरऑल स्मार्टफोन सेगमेंट की बजाए ग्लोबल प्रीमियम स्मार्टफोन सेंगमेंट ने ज्यादा तेज़ी से बढ़ोत्तरी की है। बता दें कि प्रीमियम सेगमेंट में ऐसे डिवाइस को रखा जाता है जिनकी कीमत 400 डॉलर यानि करीब 30,000 रुपए से अधिक होती। चलिए बताते हैं क्या है काउंटरप्वाइंट की रिसर्च...

    Q2 में 43% दर्ज हुई एप्पल की ग्लोबल प्रीमियम सेगमेंट की हिस्सेदारी

     

    एप्पल की ग्लोबल 43% हिस्सेदारी

    फर्म का कहना है कि एप्पल ने दूसरे तिमाही में ग्लोबल प्रीमियम सेगमेंट को लीड किया है और ग्लोबल स्तर पर एप्पल की 43 फीसदी हिस्सेदारी दर्ज की गई है। वहीं, साउथ कोरियन कंपनी सैमसंग की हिस्सेदारी इस सेगमेंट में 24 फीसदी कैप्चर की गई है। जबकि ओप्पो 10 फीसदी, हुवावे 9 फीसदी, शाओमी 3 फीसदी और वनप्लस की 2 फीसदी शेयर कैप्चर हुआ है।

    ग्लोबल प्रीमियम सेगमेंट में एप्पल और सैमसंग का आगे रहने का प्रमुख कारण अमेरिका, चीन, जापान, कोरिया और वेस्टर्न यूरोप की डेवलेप्ड मार्केट हैं। 600-800 डॉलर कीमत के सेगमेंट में सैमसंग की हिस्सेदार पिछड़ने का कारण इसकी गैलेक्सी S9 सीरिज रही। 800+ डॉलर कीमत के सेगमेंट में दूसरे तिमाही में एप्पल का शेयर 88 फीसदी रहा।

    यह भी पढ़ें:- आईफोन एक्स, एप्पल का सबसे ज्यादा कमाई कराने वाला मॉडल

    भारत में वनप्लस ने एप्पल, सैमसंग को पछाड़ा

    वहीं, मार्केट रिसर्च फर्म काउंटरप्वाइंट ने अपने एक बयान में कहा कि भारत में चीनी स्मार्टफोन निर्माता वनप्लस ने ऐप्पल और सैमसंग को पीछे छोड़ दिया है और एक तेज़ी से उभरती हुई ब्रांड के रुप में उभरकर सामने आई है। वनप्लस को भारत में काफी पसंद किया जा रहा है। भारत में प्रीमियम स्मार्टफोन मार्केट में वनप्लस का शेयर 40 फीसदी रहा। इसके साथ ही वनप्लस फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड्स, स्वीडन और ब्रिटेन में टॉप 5 प्रीमियम स्मार्टफोन OEMs ( एंड्रॉयड ओरिजिनल इक्विपमेंट मैनुफैक्चर्स) की लिस्ट में शामिल हो गई और इसमें वनप्लस 6 का काफी अह्म योगदान रहा। बता दें कि दुनियाभर में प्रीमियम सेगमेंट में करीब 40 OEMs हैं। जिनमें से शीर्ष 5 कंपनियों की हिस्सेदारी 88 फीसदी है।

     

    रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में वनप्लस की हिस्सेदारी 40 फीसदी रही। वहीं, सैमसंग की हिस्सेदारी 34 फीसदी कैप्चर हुई और ऐप्पल की कुल 14 फीसदी। बता दें कि अब तक के इतिहास में ऐप्पल की सबसे कम हिस्सेदारी दर्ज की गई है।

    प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में बढ़ोत्तरी

    बाज़ारों में प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में पहले साल की तुलना में कस्टमर्स की मांग में काफी बढ़ोत्तरी हुई है, क्योंकि कंपनियां अब इस सेगमेंट में नई नई लॉन्चिंग और बेहतरीन ऑफर्स पेश करने लगी है। काउंटर प्वाइंट ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि प्रीमियम सेगमेंट में बढ़ोत्तरी का कारण ये भी है कि अब इस सेगमेंट में कई नई कंपनियां भी शामिल हो गई हैं, जैसे हुवावे (पी 20), वीवो (एक्स 21), नोकिया एचएमडी (नोकिया 8 सिरोको) और एलजी (वी 30 प्लस) आदि।

    English summary
    Smartphone manufacturers have been busy bringing their premium smartphones to markets these days. According to the Hong Kong-based counterpoint firm's research, the global premium smartphone segment has increased more rapidly than the overall smartphone segment in the second quarter of the year 2018.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more