Subscribe to Gizbot

49% इंडियन हैंडसेट मार्केट कैप्चर कर चुका है चाइना, देशी कंपनियों का रेवेन्यू डाउन

Written By:

चाइना की स्मार्टफोन कंपनिया साल 2017 के पहले तिमाही तक 49% यानी लगभग आधे भारतीय हैंडसेट मोबाइल मार्केट पर कब्जा कर चुकी हैं। भारत में विदेशी कंपनियों का बिजनेस तेजी से बढ़ रहा है, जिसके चलते देशी कंपनियों का रेवेन्यू तेजी से घट रहा है।

49% इंडियन हैंडसेट मार्केट कैप्चर कर चुका है चाइना, देशी कंपनियों का रेवेन्यू डाउन

रिसर्च फर्म साइबर मीडिया द्वारा 2017 की पहली तिमाही भारतीय हैंडसेट मार्केट के रेवेन्यू का रिव्यू किया गया। इस रिव्यू के मुताबिक, इस साल तिमाही का रेवेन्यू 3 लाख 46 हजार मिलियन का रहा, जो साल 2016 के तिमाही रेवेन्यू से 8% कम है। इसके अलावा चाइनिज हैंडसेट मोबाइल कंपनियों का रेवेन्यू करीब 160% तक बढ़ा है।

इस रिपोर्ट के अनुसार, इस साल टॉप पांच विदेशी कंपनियों में सैमसंग पहले नंबर पर चल रही है। इसके साथ ही दूसरे नंबर पर शाओमी, तीसरे और चौथे स्थान पर वीवो है। पांचवे नंबर पर चल ऐपल है। चीनी स्मार्टफोन ब्रांड शाओमी, वीवो, ओपो और लेनोवो भारतीय बाजार में छाए हुए हैं और माइक्रोमैक्स, इंटेक्स और लिनोवो जैसे ब्रांड टॉप फाइव की लिस्ट से बाहर हो चुके हैं।

English summary
According to cmr india quarterly report of Indian handset market, Indian company like micromax lost their revenue by 8% because 49% Indian handset market captured by the China.
ईडी को मिली नीरव मोदी की 176 स्टील की अलमारियां, 30 करोड़ का बैंक बैलेंस भी फ्रीज
ईडी को मिली नीरव मोदी की 176 स्टील की अलमारियां, 30 करोड़ का बैंक बैलेंस भी फ्रीज
South Western Railway: ग्रुप डी के बाद ग्रुप सी के पदों पर नियुक्तियां, 10 दिन के अंदर करें अप्लाई
South Western Railway: ग्रुप डी के बाद ग्रुप सी के पदों पर नियुक्तियां, 10 दिन के अंदर करें अप्लाई
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot