UPI पेंमेट करते समय इन 5 बातों का रखे हमेशा ध्यान, वरना हो जाएंगे कंगाल

|
UPI पेंमेट करते समय इन 5 बातों का रखे हमेशा ध्यान, वरना हो जाएंगे कंगा

साइबर सुरक्षा और सुरक्षित UPI लेनदेन के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने कुछ महत्वपूर्ण सुझाव साझा किए हैं। यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा एक तत्काल रीयल-टाइम भुगतान प्रणाली है जो पैसे ट्रांसफर को सही मायने में कैशलेस और पेपरलेस बनाती है।

 

लेकिन सुविधा के साथ जिम्मेदारियां आती हैं। UPI लेनदेन का उपयोग करना आसान है लेकिन थोड़ी सी लापरवाही से कमजोरियां हो सकती हैं। इसलिए, साइबर अपराध, धोखाधड़ी और UPI लेनदेन से संबंधित घोटालों से सुरक्षित रहने के लिए आपको हमेशा सतर्क रहना चाहिए। आइए UPI लेनदेन को सुरक्षित और अधिक सुरक्षित बनाने के लिए SBI द्वारा साझा किए गए UPI सुरक्षा सुझावों पर एक नज़र डालें।

1.पेमेंट रिसीव करते समय किसी UPI पिन की जरुरत नहीं है

अगर आप किसी से UPI के जरिए पैसे प्राप्त कर रहे हैं, तो UPI पिन की जरूरत नहीं है। जो लोग नहीं जानते हैं, उनके लिए UPI पिन वह नंबर होता है जिसे आप किसी को लेन-देन करने के लिए पैसे भेजते समय दर्ज करते हैं। इसलिए, अगर कोई आपसे पैसे प्राप्त करते समय अपना यूपीआई पिन साझा करने के लिए कहता है तो सतर्क हो जाएं।

2.जिस व्यक्ति को आप पैसे भेज रहे हैं उसकी पहचान हमेशा वेरिफाई करें

जब भी आप क्यूआर कोड या फोन नंबर के जरिए यूपीआई भुगतान कर रहे हों, तो व्यक्ति की पहचान को क्रॉस चेक करें। कभी भी किसी अनजान व्यक्ति को यूपीआई के जरिए क्यूआर कोड या फोन नंबर के जरिए पैसे न भेजें।

 

3.बिन जान पहचान वाले की रिक्वेस्ट एक्सेप्ट न करें

कभी-कभी धोखेबाज यूपीआई ऐप की 'कलेक्ट रिक्वेस्ट' फीचर का इस्तेमाल करते हैं, ताकि यूजर पेमेंट के लिए रिक्वेस्ट कर सके। अक्सर, लोग यह सोचकर अनुरोध का जवाब देते हैं कि उन्हें पैसा मिल रहा है, लेकिन इसके बजाय वे उस बड़ी राशि को धोखेबाज को ट्रांसफर करने के शिकार हो जाते हैं।

4.अपना UPI पिन नियमित रूप से बदलें

एटीएम पिन की तरह ही, नियमित रूप से यूपीआई पिन बदलना अच्छा अभ्यास है। यह आपको किसी भी धोखाधड़ी से भी बचाता है यदि आपने गलती से किसी के साथ पिन साझा किया है।

5.क्यूआर कोड के माध्यम से भुगतान करते समय हमेशा क्रॉस चेक करें

आजकल, क्यूआर कोड के माध्यम से किए गए यूपीआई भुगतान आम हो गए हैं। दुकानदार से लेकर ऑटो चालक तक सभी पैसे लेने के लिए क्यूआर कोड लगाते हैं। लेकिन कभी-कभी अपराधी यात्रियों और यहां तक कि दुकानदारों को ठगने के लिए गुप्त रूप से पोस्टरों पर अपना क्यूआर कोड डाल देते हैं। इसलिए, हर बार जब आप भुगतान करते हैं, तो उस व्यक्ति का नाम और विवरण सत्यापित करें जिसे आप इसे भेज रहे हैं।

 
Best Mobiles in India

English summary
SBI has shared some important tips for safer UPI transactions to avoid fraud. Always remember these points before processing any UPI payment.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X