मंगलयान ने 1 लाख किलोमीटर की दूरी की तय

|

भारत के मंगलयान ने मंगलवार सुबह सफलतापूर्वक एक लाख किलोमीटर का कक्षा उन्नयन हासिल कर लिया। अंतरिक्ष एजेंसी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधानसंस्थान (इसरो) ने एक बयान में कहा, "मंगल ग्रह की परिक्रमा करने के लिए भेजे गए यान के चौथे अनुपूरक कक्षा उन्नयन की प्रक्रिया 12 नवंबर (मंगलवार) को भारतीय समयानुसार पांच बजकर तीन मिनट और पचास सेकेंड पर शुरू की गई। अब यान की दूरी धरती से 78,276 किलोमीटर से बढ़कर 1,18,642 किलोमीटर हो गई है।

 

पढ़ें: धरती के करीब कैसे आ गए ये ग्रह

मंगलयान का वेग 124.9 मीटर प्रति सेकेंड बढ़ा दिया गया है। इसरो की पूर्व निर्धारित योजना में शामिल छह उपायों के अलावा मंगलवार को अतिरिक्त उपाय का प्रयोग किया गया जब सोमवार सुबह यान की कक्षा बढ़ाने की गतिविधि में अड़चन पेश आई। मंगलयान की तकनीकी प्रणाली के संचालन के दौरान ईंधन के मोटरों को बंद कर दिया गया था जिसके कारण सोमवार को यान अपने निर्धारित स्तर तक नहीं पहुंच पाया।

पढ़ें: इस फैक्‍ट्री में बनते हैं एलजी के स्‍मार्टफोन

मंगलयान ने 1 लाख किलोमीटर की दूरी की तय

इससे पहले भारत के मंगलग्रह अभियान को सोमवार सुबह एक परेशानी का सामना करना पड़ा था। मंगल ग्रह मिशन के आधिकारिक फेसबुक पेज के अनुसार मंगलयान का चौथी बार किया गया कक्षा उन्नयन लक्ष्य से कम हो रहा था। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा फेसबुक पेज पर कहा गया था, इस बार मोटरों को चालू करके मंगलयान को 35 मीटर/सेकेंड की गति प्रदान की गई है।

 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X