एप्पल का ए4 चिप से ए11 बायोनिक चिपसेट का सफर

|

ऐसा कोई भी मोबाइल लवर नहीं है जिसे एप्पल के फोन पसंद नहीं हों। लेकिन क्या आपको पता है की एप्पल ने अब तक अपने कौनसे फोन में कौनसी मोबाइल चिपसेट इस्तेमाल की है। आइये हम बताते हैं...

 
एप्पल का ए4 चिप से ए11 बायोनिक चिपसेट का सफर

एप्पल अब अपने फोंस में ए सीरीज की चिपसेट इस्तेमाल करती है। लेकिन इससे पहले पैकेज ऑन पैकेज यानि पीओपी चिपसेट इस्तेमाल की जाती थी।

एप्पल ने सबसे पहले एएक्स सीरीज फेमिली की चिप सिस्टम ऑन चिप (एसओसी) चिपसेट इस्तेमाल की जिसे अब आईपैड, आईपॉड टच और एप्पल टीवी में इस्तेमाल किया जाता है।

एप्पल का ए4 चिप से ए11 बायोनिक चिपसेट का सफर

ए4 एप्पल का पहला ए सीरीज प्रोसेसर था। इसमें पावर एफ़िशियेन्सी पर ध्यान दिया गया। इसे सबसे पहले आईफोन 4, 4 जनरेशन आईपॉड टच और 2 जनरेशन एप्पल टीवी में काम में लिया गया।

इसके बाद ए5 सिस्टम ऑन चिप (एसओसी) आई। इसे मार्च 2011 में एप्पल आईपैड 2 में लगाया गया। इसे आईफोन 4एस में भी काम में लिया गया जो इसी साल के अंत में लॉन्च हुआ था।

एप्पल का ए4 चिप से ए11 बायोनिक चिपसेट का सफर

एप्पल ए5एक्स को मार्च 2012 में एप्पल के थर्ड जनरेशन आईपैड में काम में लिया गया। यह ए5 का परफ़ोर्मेंस वेरियंट था जिसने ए5 के ग्राफिक परफ़ोर्मेंस को दो गुना बढ़ा दिया था।

सितंबर 2012 में आईफोन 5 की लोचिंग के साथ एप्पल ए6 आई। इसे बाद में आईफोन 5सी में भी इस्तेमाल किया गया। ए5 की तुलना में यह 22% छोटी थी और पावर भी कम लेती थी। यह भी पिछली चिप से दुगनी फास्ट थी।

एप्पल ए6एक्स इसी साल आई जिसे अक्टूबर 2012 में फ़ोर्थ जनरेशन आईपैड में इस्तेमाल किया गया। इसका भी ग्राफिक और सीपीयू परफ़ोर्मेंस पहले की चिप से दुगना था।

इस देश में वॉट्सएप हुआ पूरी तरह बैन, ये है वजह!इस देश में वॉट्सएप हुआ पूरी तरह बैन, ये है वजह!

10 सितंबर 2013 को आईफोन 5एस में 64 बिट की सिस्टम ऑन बिट काम में की गई, यह थी एप्पल ए7। एप्पल ए8 भी 64 बिट चिप थी जिसे सितंबर 9, 2014 में आईफोन 6 और आईफोन 6 प्लस में इस्तेमाल किया गया। इसे बाद में आईपैड मिनी में भी काम में लिया गया। इसका सीपीयू परफ़ोर्मेंस पिछले चिप्स से 25% ज़्यादा था और बिजली की खपत 50% कम थी।

 

अक्टूबर 2014 में आईपैड एयर में एप्पल ए8 चिप लगाई गई। साल 2015 में आईफोन 6एस और 6एस प्लस की लोंचिंग के साथ एप्पल ए9 64 बिट चिप आई। एप्पल ए8 के मुक़ाबले इसका सीपीयू परफ़ोर्मेंस 70% अधिक और ग्राफिक परफ़ोर्मेंस 90% अधिक था।

2015 में आईपैड प्रो में एप्पल 9एक्स सीएचआईपी इस्तेमाल की गई। पिछले साल सितंबर में आईफोन 7 और प्लस में ए10 फ्यूजन चिप लगाई गई। 5 जून 2017 को एप्पल 10एक्स फ्यूजन चिप 10.5 इंच आईपैड प्रो और सेकंड जनरेशन 12.9 इंच आईपैड प्रो में काम ली गई।

अब एप्पल ने आईफोन एक्स, आईफोन 8 एप्पल और आईफोन 8 प्लस लॉन्च किए हैं जिनमें ए11 बायोनिक चिप इस्तेमाल की गई है। यह एप्पल ए10 से 25% फास्ट है।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
Apple has recently launched new chipset A11. It is the latest by the company. So far we have an awsome change in Apple devices, here is the evolution of Apple A mobile chips.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X