जून 2018 तिमाही के सकल राजस्व में जियो से आगे निकला एयरटेल

    राजस्व बाजार हिस्सेदारी के लिहाज से रिलायंस जियो देश की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल ऑपरेटर बन गई है, लेकिन पुरानी दूरसंचार कंपनियां भी अपना राजस्व बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में कामयाब रही हैं। ट्राई के आंकड़ों में इसकी जानकारी सामने आई है। भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया की बाजार हिस्सेदारी में विस्तार हुआ है और ये जियो से आगे ही रहे हैं।

    जून 2018 तिमाही के सकल राजस्व में जियो से आगे निकला एयरटेल

     

    ट्राई की त्रैमासिक वित्तीय रिपोर्ट की घोषणा

    इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो जून 2018 में समाप्त तिमाही के लिए समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) पर एयरटेल से आगे चला गया है। एयरटेल के 6,723 करोड़ रुपये के एजीआर की तुलना में जियो ने अपनी प्राथमिक लाइसेंस प्राप्त सेवाओं से 7,125 करोड़ रुपये की एजीआर दर्ज की।

    यह भी पढ़ें:- Jio के छोटे पैक को टक्कर देने Voda ने पेश किया छोटा प्रीपेड प्लान

    ट्राई की त्रैमासिक वित्तीय रिपोर्ट में संख्याओं की घोषणा की गई। और जब जियो अपनी व्यक्तिगत संख्या में वोडाफोन और आइडिया सेलुलर ब्रांड से आगे है, संयुक्त वोडाफोन आइडिया लिमिटेड होल्डिंग इकाई अभी भी अधिक कमाई करती है (8,226 करोड़ रुपये के संयुक्त एजीआर) और उस समय के लिए एक बड़ा ग्राहक आधार है।

    जियो ने उच्चतम वृद्धि दर्ज की

    यह भी ध्यान देने योग्य है कि एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर ने जून 2018 तिमाही में अपने एजीआर में गिरावट दर्ज की, जबकि रिलायंस जियो और भारत सरकार के स्वामित्व वाली BSNL में बढ़ोतरी हुई। एजीआर में 14.6 प्रतिशत की वृद्धि के साथ जियो ने उच्चतम वृद्धि दर्ज की। 4 जी स्मार्टफोन की वजह से मजबूत मूल्य निर्धारण, ग्राहक में बढ़ोतरी के साथ कई फायदे हुए हैं। जियो का 4 जी- नेटवर्क सबसे तेजी से डेटा डाउनलोड गति प्रदान करता है, यह इसकी सफलता में काफी महत्‍वपूर्ण योगदान देता है।

    यह भी पढ़ें:- Jio के सभी लॉन्ग टर्म प्रीपेड प्लान की लिस्ट, आपके लिए कौनसा होगा सबसे ज्यादा फिट

    कुछ अन्य आंकड़ों में प्रति उपयोगकर्ता औसत मासिक राजस्व शामिल है, जो मार्च तिमाही में 76 रुपये से घटकर जून तिमाही में 69 रुपये हो गया है, क्योंकि सभी ऑपरेटरों बेहतर लाभ के साथ अधिक किफायती प्रीपेड प्‍लान्‍स जारी रखते हैं। इसके अलावा, हर महीने प्रति ग्राहक औसत उपयोग 584 मिनट से बढ़कर 608 मिनट हो गया है, क्योंकि उपयोगकर्ता अपने कॉलिंग ऑफर को कभी भी बर्बाद होने नहीं देता।

    Read more about:
    English summary
    Reliance Jio has become the country's third largest mobile operator in terms of revenue market share, but old telecom companies have also been able to increase their revenue market share. Its data came out in TRAI data. The market share of Bharti Airtel, Vodafone and Idea has expanded.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more