Airtel 2100 गांवों में पहुंचाएगा नेटवर्क

By Deepa

    टेलीकॉम कंपनी एयरटेल पूर्वोत्‍तर में अपनी कनेक्‍ट‍िविटी बढ़ाने जा रही है। कंपनी का कहना है अगले 18 महीने में पूर्वोत्‍तर के 2100 वंचित गांवों में एवं राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर मोबाइल कनेक्टिविटी उपलब्‍ध करवाएगी।

    कंपनी ने एक बयान में कहा है कि भारती एयरटेल ने इस बारे में दूरसंचार विभाग एवं सार्वभौम सेवा दायित्‍व कोष यूएसओएफ एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए हैं। इसके तहत वह पूर्वोत्‍तर के चिन्हित वंचित गांवों में व राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर मोबाइल सेवाएं उपलब्‍ध करवाएगी।

    Airtel 2100 गांवों में पहुंचाएगा नेटवर्क

    पूर्वोत्‍तर के ये राज्‍य असम, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा व अरुणांचल प्रदेश हैं। इस समझौते के तहत एयरटेल अगले 18 महीने में 2000 मोबाइल टावर साइट स्‍थापित करेगी। ताकि 2100 से अधिक गांवों में नागरिकों को दूरसंचार कनेक्टिविटी उपलब्‍ध कराई जा सके।

    Airtel 2100 गांवों में पहुंचाएगा नेटवर्क

    इसके अनुसार उसके इस कदम से क्षेत्र में महत्‍वपूर्ण राष्‍ट्रीय राजमार्गों के आसपास कनेक्टिविटी मजबूत होगी। इस परियोजना के लिए एयरटेल को यूएसओएफ से लगभग 1610 करोड़ रुपए मिलेंगे। एयरटेल द्वारा स्‍थापित किए गए बुनियादी ढ़ाचें से अन्‍य दूरसंचार सेवा प्रदाता भी क्षेत्र में सेवाओं की पेशकश कर सकेंगी।

    English summary
    Bharti Airtel has signed an agreement with the telecom department and Universal Service Obligation Fund (USOF) to provide mobile services in 2,100 identified uncovered villages
    भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more