Amazon ई-रिक्शा के ज़रिए अब होगी अमेज़न सामान की डिलीवरी

|

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों में शुमार अमेजॉन ने सोमवार को घोषणा की कि वो इंडियन मार्केट में कंपनी का Electric delivery rickshaw रोल आउट कर रही है। अमेजॉन ने साल 2025 तक सड़कों पर 10,000 ऐसे वाहनों को उतारने का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा कंपनी विश्व भर में साल 2030 तक 100,000 इलेक्ट्रिक डिलीवर वाहन उतारने के रोडमैप पर काम कर रही है।

20 शहरों में चलेगी अमेजॉन ई-रिक्शा

एक प्रेस रिलीज के ज़रिए कंपनी ने जानकारी दी कि साल 2025 तक 10,000 उतारे जाने वाली इलेक्ट्रिक डिलीवरी वाहनों में तीन पहिया और चार पहिया वाहनों को शामिल किया जाएगा। साल 2020 में अमेजॉन अपनी इलेक्ट्रिक डिलीवरी फ्लीट को 20 शहरों में ऑपरेट करेगी जिनमें अहमदाबाद, बैंगलोर, कोयंबटूर, दिल्ली-एनसीआर, हैदराबाद, नागपुर और पुणे शामिल है।

Amazon ई-रिक्शा के ज़रिए अब होगी अमेज़न सामान की डिलीवरी

 

ई-रिक्शा चलाते दिखे जैफ बोजेस

बेजोस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया जिसमें वो ई-रिक्शा चलाते दिखाई दे रहे हैं। जेफ से ट्वीट करते हुए लिखा कि वे भारत में इलेक्ट्रिक डिलिवरी रिक्शा की नया फ्लीट शुरू कर रहे हैं जो पूरी तरह इलेक्ट्रिक है जीरो कार्बन उत्सर्जन वाला है। अपने ट्वीट में बेजोस ने हैश टैग #ClimatePledge भी लगाया है। बता दें कि ये कंपनी के Climate Change को रोकने की दिशा में किए जा रहे कोशिशों में से एक है जिसकी शुरूआत भारत से की गई है।

भारतीय दौरे पर जेफ

बता दें कि जेफ बेजोस कुछ दिन पहले भारतीय दौरे पर थे। इसी दौरान उन्होंने भारत में 1 अरब डॉलर इन्वेस्ट करने की घोषणा की थी। इस इन्वेस्टमेंट में जेफ बोजोस छोटे बिजनेस पर फोकस करेंगे। इस दौरान उन्होंने भारत के हजारों किराना स्टोर्स से पार्टनरशिप की भी बात कही थी। इन किराना स्टोर्स को कंपनी डिलिवरी प्वॉइंट के तौर पर इस्तेमाल करेगी। अमेजॉन का मानना है कि भारत में इस इन्वेस्टमेंट से प्रतिभा को खोजने और उसे और सक्षम बनाने में मदद मिलेगी।

 

यह भी पढ़ें:- Amazon Food Delivery जल्द ही होगी शुरू, Swiggy और Zomato होंगे परेशान

जेफ ने अपनी इंडिया विजिट के कुछ फोटोज और वीडियोज को ट्विटर के ज़रिए शेयर किया था। उन्होंने ट्वीट कर अपने एक्सपीरियंस को साक्षा किया था, उन्होंने लिखा कि भारत में चल रहे हमारे इस प्रोग्राम पर मुझे गर्व है जिसमें डिलीवरी स्टेशनों पर बधिर सहयोगियों को नौकरी दी जा रही है और उन्हें ट्रेन किया जा रहा है। इस ग्रुप से मिलना मेरे लिए एक शानदार अनुभव था। बता दें कि अमेज़ॉन भारत में अगले 5 सालों में 10 लाख जॉब्स देने के टारगेट पर काम कर रही है।

यह भी पढ़ें:- अब ड्राइवर के बिना चलेगी Uber की गाड़ियां, Volvo के साथ की पार्टनरशिप

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट बन चुकी अमेज़ॉन ने 7 साल पहले भारतीय मार्केट में कदम रखा था। इंडियन मार्केट में कंपनी को सक्सेसफुल बनाने के लिए कंपनी ने भारत में 5 बिलियन डॉलर से ज्यादा का इन्वेस्टमेंट किया है। हालांकि अमेज़न ने पिछले तीन दिनों से साल 2020 की पहली Amazon Great India Sale का भी आयोजन कर रखा है, जिसका आज आखिरी दिन है।

अगर आप सेल के बारे में जानना और उसका फायदा उठाना चाहते हैं तो उपर अमेज़न सेल के लिंक पर क्लिक करें, पढ़ें, जानें और खरीदें। इस तरह की अन्य ख़बरों को भी पढ़ने और जानने के लिए आप हमारे यानि हिंदी गिज़बॉट के साथ जुड़े रहें। आप हमे फेसबुक और हेलो के आफिसियल पेज को भी फॉलो कर सकते हैं, जहां आपको सभी लेटेस्ट टेक ख़बरों की अपडेट मिल जाएगी।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Amazon, one of the world's largest e-commerce companies, announced on Monday that it is rolling out the company's electric delivery rickshaw in the Indian market. Amazon has set a target of landing 10,000 such vehicles on the roads by 2025. Apart from this, the company is working on the roadmap to unload 100,000 electric delivered vehicles by the year 2030 worldwide.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X