बच्चों को यौन उत्पीड़न से बचाएगा मोबाइल एप

Posted By:

मोबाइल एप डेवलपरों ने एक ऐसी ऐप बनाई है , जो बच्चों के यौन उत्पीड़न को रोकने में सहायक होगा। इस एप के माध्यम से माता-पिता अपने बच्चों से कुछ सवालों के जवाब पूछकर उसके मूल्यांकन के आधार पर अपने बच्चे की सुरक्षा को सुनिश्चित कर सकते हैं।

इस एप का निर्माण, बाल मामलों के वकील तथा यौन उत्पीड़न के शिकार पीड़ितों के प्रतिनिधि जेफ हरमन के हवाले से एचएलएनटीवी डॉट कॉम ने कहा, "इस एप की सहायता से माता-पिता इस बात से सुनिश्चित हो सकते हैं कि उनका बच्चा कहीं यौन उत्पीड़न का शिकार तो नहीं हो रहा या हो सकता है।

पढ़़ें: क्‍या आप जानते हैं फेसबुक के नए फीचरों के बारे में,

हरमन ने कहा, "यौन उत्पीड़न के सैकड़ों पीड़ितों का प्रतिनिधित्व करने के बाद यह बात मेरे लिए स्पष्ट हो गई कि अगर बच्चों के माता-पिता खतरे के कुछ सूचकों से परिचित हो जाएं, तो बच्चों को यौन उत्पीड़न से बचाया जा सकता है।

बच्चों को यौन उत्पीड़न से बचाएगा मोबाइल एप

हरमन ने कहा कि बच्चों को 'गुड टच' या 'बैड टच' से अवगत कराना आसान काम नहीं है। एप की प्रश्नोत्तरी में सवालों की एक श्रृंखला होती है, जिससे माता-पिता इस बात का पता लगा सकते हैं कि उनके बच्चे पर कोई वयस्क व्यक्ति बुरी नजर तो नहीं डाल रहा।

उत्तरों का मूल्यांकन कर आपको आसानी से इस बात का पता चल सकता है कि आपका बच्चा उत्पीड़न के खतरे में है या नहीं। हरमन ने कहा, "अपने बच्चे को लेकर यदि आप किसी व्यक्ति के प्रति सशंकित हैं, तो उसके साथ उसे अकेला कतई न छोड़ें।

English summary
App developers have created a software that would help parents keep a check on child abuse.
Please Wait while comments are loading...
शादी के 2 माह बाद ही देवर से बन गए भाभी के अवैध रिश्‍ते, पति ने पकड़ा तो उठाया ये कदम
शादी के 2 माह बाद ही देवर से बन गए भाभी के अवैध रिश्‍ते, पति ने पकड़ा तो उठाया ये कदम
गर्लफ्रेंड का दिल किसी और पर आ गया तो 3 साल की मोहब्‍बत का ऐसा हुआ हश्र, पढ़कर कांप जाएंगे
गर्लफ्रेंड का दिल किसी और पर आ गया तो 3 साल की मोहब्‍बत का ऐसा हुआ हश्र, पढ़कर कांप जाएंगे
Opinion Poll

Social Counting