क्‍या आपके रंग को लेकर कोई कमेंट करता है ?

Written By:

बाजार में एक नई एप्‍लीकेशन आई है, जिसे किसी भी प्रकार के भेद-भाव को चुनौती देने, उससे लड़ने और रोकने की दिशा में सकारात्मक पहल के रूप में देखा जा रहा है। अब किसी के साथ कहीं पर भी, किसी भी समय, किसी भी तरह का भेद-भाव होता दिखे, तो प्रीजुडिस ट्रैकर की सहायता से आप समाज को और अपने आसपास तुरंत इस बात को शेयर कर जरूरी कदम उठा सकते हैं।

आईफोन एवं एंड्रायड मोबाइल फोन में यह एप्लीकेशन मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकेगा। प्रीजुडिश ट्रैकर नामक इस एप्लीकेशन को पेंसिलवेनिया के डायनेमिक डिजिटल एडवर्टाइजिंग के डेविड काट्ज ने बनाया है। यह एप्लीकेशन अपनी तरह का पहला ऐसा एप्लीकेशन है, जो पूर्वाग्रह, उत्पीड़न और भेदभाव से जुड़े किसी भी कृत्य को पहचान कर तुरंत उसे दर्ज कर लेगा।

<center><iframe width="100%" height="360" src="//www.youtube.com/embed/aKw1ZcDcgxQ?feature=player_embedded" frameborder="0" allowfullscreen></iframe></center>

पूर्वाग्रह और भेदभाव जैसी कुरीतियों से पीड़ित व्यक्ति और मौके पर मौजूद गवाह मानवीय गलत कृत्यों के प्रकार और गंभीरता का वर्णन कर शिकायत दर्ज करा सकेंगे। नक्‍सलभेद का शिकार हुए व्यक्ति अपने साथ हुई घटना के सबूत सहित विस्तार से सभी बातें लिखकर कर इसके खिलाफ आवाज उठा सकते हैं और न्याय के लिए लड़ सकते हैं। वहीं, इस तरह की किसी भी घटना के गवाह लोग अपने अनुभव लोगों से साझा कर गलत कृत्यों के खिलाफ आवाज उठा सकते हैं और समाज में सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश कर सकते हैं।

आईस्ट्रेटेजीलैब्स की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी 2011 से जनवरी 2014 के बीच 13 से 17 साल की उम्र के 30 लाख से अधिक उपयोगकर्ता ने अपना अकांउट बंद कर दिया है। यही हाल 18 से 24 साल के बीच के युवाओं का भी रहा है।

Please Wait while comments are loading...
Jio के इन 4 प्लान में नहीं है डाटा लिमिट, अनलिमिटेड करें यूज
Jio के इन 4 प्लान में नहीं है डाटा लिमिट, अनलिमिटेड करें यूज
इंडियन आर्मी के इस हीरो ने सुनाई 'सर्जिकल स्ट्राक' की कहानी, कहा- विश्वास से जीता जंग
इंडियन आर्मी के इस हीरो ने सुनाई 'सर्जिकल स्ट्राक' की कहानी, कहा- विश्वास से जीता जंग
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot