iPhone चार्ज करने के दौरान गई बच्ची की जान: रिपोर्ट

By Neha

    ऐपल कंपनी के आईफोन को लेकर वियतनाम से खबरें सामने आ रही हैं। इन रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि एक 14-वर्षीय बच्ची की मौत आईफोन चार्ज करते वक्त चार्जर के कटे हुए तार की वजह से हो गई। फिलहाल इस हादसे की पुष्टि नहीं हो पाई है। ऐपल की तरफ से भी इस हादसे को लेकर कोई बयान सामने नहीं आया है। तत्काल रिपोर्ट्स में बच्ची की मौत की की वजह electrocution यानी बिजली का हाईशॉक माना जा रहा है। पुलिस फिलहाल इस मामले की जांच कर रही है।

    iPhone चार्ज करने के दौरान गई बच्ची की जान: रिपोर्ट

    मृतक बच्ची Le Thi Xoan वियतनाम की राजधानी Hanoi के Hoan Kiem जिले से थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बच्ची अपने कमरे में बेहोश मिली थी, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। याहू न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, मामले की जांच करने वाले पुलिस अधिकारियों को संदेह है कि यह उसके आईफोन के चार्जर की वजह से हो सकता था, जिसने उसे इलेक्ट्रोकाट कर दिया हो। डॉक्टर्स की रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों की पुष्टि हो सकेगी।

    4000 एमएएच बैटरी वाला Lenovo K8 Plus हुआ सस्ता

    रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि किशोरी रोजाना का तरह हादसे वाले दिन भी iPhone 6 को प्लग कर सोई थी। आईफोन के चार्जर की इमेज भी सामने आई थी, जिसे देखकर लग रहा है कि आईफोन के चार्जर की केबल कटी हुई थी और उसे ट्रांसपेरेंट टेप से उस हिस्से को कवर किया गया है। ऐसे में पुलिस का मानना है कि मौत का कारण इलेक्ट्रिक शॉक भी हो सकता है।

    "200 से ज्यादा सरकारी वेबसाइट से आधार डिटेल पब्लिक हुए"

    फिलहाल ये भी जानकारी नहीं मिल सकी है कि आईफोन को जिस चार्जर से चार्ज किया गया, वो कंपनी का था या थर्ड पार्टी का। ऐपल ने फिलहाल इस पूरे मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

    English summary
    Apple iPhone frayed charger cable electrocutes 14-year old. More detail in hindi.
    भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more