एप्पल ने पहली बार श्याओमी को किया पीछे

Written By:

    साल 2016 में 4.49 करोड़ आईफोन्स की बिक्री के साथ ही एप्पल ने 'चीन की एप्पल' कही जानेवाली कंपनी श्याओमी को पीछे छोड़ दिया है, हालांकि वह फोन की बिक्री में पांचवे स्थान पर रही है। वहीं, श्याओमी की कुल 4.15 करोड़ स्मार्टफोन्स की बिक्री हुई है।

    एप्पल ने पहली बार श्याओमी को किया पीछे

    ओप्पो की बिक्री दोगुनी से अधिक बढ़ी है और वह पहले स्थान पर है। मार्केट रिसर्च फर्म आईडीसी (इंटरनेशनल डेटा कॉर्पोरेशन) की तिमाही मोबाइल फोन ट्रैकर रिपोर्ट के मुताबिक 2015 में एप्पल ने 5.84 करोड़ आईफोन और श्याओमी ने 6.4 करोड़ फोन की बिक्री की थी। 2016 में दोनों की बिक्री में क्रमश: 23 फीसदी और 36 फीसदी की गिरावट आई है।

    क्या आपके पास है लेनोवो के 6 पॉवर? हां! तो पढ़िए यह मजेदार खबर

    ओप्पो की 2016 में कुल 7.84 करोड़ फोन की बिक्री हुई और वह शीर्ष पर रही, जबकि साल 2015 में कंपनी ने कुल 3.54 करोड़ फोन बेचे थे। हुवेई दूसरे नंबर पर रही, जिसके 7.6 करोड़ फोन बिके। वीवो तीसरे नंबर पर रही, हालांकि उसकी बिक्री में भी दोगुनी बढ़ोतरी हुई है। वीवो ने 2015 में 3.5 करोड़ फोन की बिक्री की थी, जो 2016 में बढ़कर 6.9 करोड़ हो गई।

    आईडीसी एशिया प्रशांत के क्लाइंट डिवाइस टीम के वरिष्ठ बाजार विश्लेषक टे एक्स आयोहान ने एक बयान में कहा, "मोबाइल एप पर बढ़ती निर्भरता के कारण ग्राहक अपने फोन को अपग्रेड करना चाहते हैं। इससे 2016 की चौथी तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री तेज हुई। छोटे शहरों में भी ग्राहकों की ऐसी ही मांग है, जहां ओप्पो और वीवो ने मध्यम श्रेणी के स्मार्टफोन्स की आक्रामक तरीके से बिक्री की।"

    आईडीसी का मानना है कि गिरावट के बावजूद चीनी वेंडर एप्पल की बाजार हिस्सेदारी खत्म करने में सक्षम नहीं हैं। क्योंकि एप्पल के ज्यादातर ग्राहक अगले साल लांच होनेवाले आईफोन को ही खरीदना चाहते हैं, इससे साल 2017 में भी इस ब्रांड को रफ्तार मिलेगी।

    English summary
    Apple has finally halted the dream run of Xiaomi in China, the largest smartphone market in the world, edging the Chinese phone giant from the fourth slot by shipping nearly 45 million iPhones to the country.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more