चंद्रयान-2 ने अंतरिक्ष से भेजी पृथ्वी की कुछ खूबसूरत तस्वीरें

|

चंद्रयान-2 के बारे में आपने सुना ही होगा। 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2:43 मिनट पर आंध्र-प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से लॉन्च किया गया था। चंद्रयान-2 6 सितंबर को चांद के साउथ पोल पर उतरेगा और उसके बाद वहां पर कई अहम मुद्दों पर रिचर्स करेगा। फिलहाल चंद्रयान-2 धरती और चंद्रमा के बीच में है। जहां से चंद्रयान-2 धरती की कुछ ताजा तस्वीरें भेजी है।

चंद्रयान-2 ने अंतरिक्ष से भेजी पृथ्वी की कुछ खूबसूरत तस्वीरें

 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने अपने ट्विटर हैंडल पर कुछ तस्वीरे साझा की है जो चंद्रयान-2 से भेजी गई है। चंद्रयान-2 में लगे LI4 कैमरे से धरती की कुछ तस्वीरों को दो दिन पहले क्लिक की गई है और उसे इसरो को भेजा गया। चंद्रयान-2 में लगे LI4 कैमरे ने 3 अगस्त 2019 को 17:34 UT पर इन पिक्चर्स को लिया गया है। इसरो ने जानकारी देते हुए कहा था कि शुक्रवार को दोपहर 3 बजकर 27 मिनट पर चंद्रयान-2 ने चौथी कक्षा में पहुंचने की गतिविधि सफलतापूर्वक पूरा किया है।

 

1. चंद्रयान 2 को 22 जुलाई को दोपहर 2:43 मिनट पर लॉन्च किया गया।

2. इस चंद्रयान को ले जाने वाले रॉकेट का नाम GSLV-MK3 है, जिसके तहत इसे लॉन्च किया गया है।

3. इस रॉकेट को देश का सबसे ताकतवर रॉकेट माना जाता है, इसलिए इसे बाहुबली रॉकेट भी कहा जा रहा है।

4. चंद्रयान 2, 48 दिनों की यात्रा के बाद 6 सितंबर को चांद की सतह पर पहुंचेगा।

5. 2:43 मिनट पर लॉन्च होने के करीब 16:23 मिनट बाद चंद्रयान-2 पृथ्वी से करीब 182 किमी की ऊंचाई पर पहुंचा था और GSLV-MK3 रॉकेट से अलग होकर पृथ्वी की कक्षा यानि Earth Orbit में चक्कर लगाना शुरू किया।

1. चंद्रयान-2 आज यानि 22 जुलाई से लेकर 13 अगस्त तक पृथ्वी के चारों तरफ चक्कर लगाएगा।

2. 13 अगस्त से 19 अगस्त तक चांद की तरफ जाने वाले लंबी ऑर्बिट में यात्रा करेगा।

3. 19 अगस्त को चंद्रयान-2 चांद की कक्षा में पहुंच जाएगा।

4. 19 अगस्त से 31 अगस्त यानि 13 दिनों तक चंद्रयान-2 चांद के चारों तरफ चक्कर लगाएगा।

5. 1 सितंबर को चंद्रयान में मौजूद विक्रम लैंडर ऑर्बिटर से अलग होकर चांद के साउथ पोल की यात्रा करेगा।

6. 6 सितंबर को 5 दिनों की यात्रा करने के बाद विक्रम लैंडर चांद के साउथ पोल पर लैंड करेगा।

7. 6 सितंबर को लैंड करने के करीब 4 घंटे बाद विक्रम लैंडर से रोवर प्रज्ञान निकलकर चांद की सतह पर कदम रखेगा।

8. उसके बाद रोवर प्रज्ञान चांद के साउथ पोल यानि दक्षिणी ध्रुव पर विभिन्न प्रयोग और खोज करेगा।

अब हम सभी को 6 सितंबर का इंतजार है जब भारत सफलतापूर्वक अपने चंद्रयान-2 को चंद्रमा के साउथ पोल पर उताकर पूरी दुनिया में इतिहास रचेगा। हम आपको उस दिन भी चंद्रयान-2 की सभी ख़बरों की अपडेट देते रहेंगे। इन तरह की तमाम ख़बरों को पढ़ने और जानने के लिए हिंदी गिज़बॉट से जुड़े रहे। आप हमारे फेसबुक और हेलो अकाउंट की आईडी के साथ भी जुड़ सकते हैं।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
You have heard about Chandrayaan-2. On July 22, 2019, at 2:43 am, Andhra Pradesh's Sriharikota was launched from Satish Dhawan Center. Chandrayaan-2 will land on Moon's South Pole on September 6 and then there will be many important issues on it thereafter. Currently Chandrayaan-2 has sent some fresh pictures of the Earth.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more