फेसबुक और पिक्‍सर के आर्टिस्‍टों ने मिलकर तैयार किए कुछ नए इमोशन आईकॉन

Posted By:

फेसबुक अपने इमोशन आईकॉन को बदलना चाहता है इसके लिए फेसबुक ने जानी मानी एनिमेटेड कंपनी पिक्‍सर के साथ मिलकर कुछ नए इमोशन आईकॉन बनाए हैं। इन आइकॉन को फेसबुक और पिक्‍सर के आर्टिस्‍टों ने मिलकर बनाया है। बजफीड की रिपोर्ट के अनुसार पिक्‍सर स्‍टोरी के आर्टिस्‍ट मैट जोन्‍स, यूसी बरकेले और साइक्‍लॉजिस्‍ट डैचर कैलेटनर ने मिलकर ऐसे आईकॉन बनाए हैं जो इमोश्‍ान को ज्‍यादा बेहतर तरीके से बयां कर सकते हैं।

वहीं जोन्‍स इस प्रोजेक्‍ट में अकेले काम कर रहें हैं। जोन्‍स अपन आईकॉन के द्वारा गुस्‍सा, डर, प्‍यार और नफरत को अच्‍छी तरह दिखाना चाहते हैं इसी लिए उन्‍होंने आईकॉन का 3डी रूप भी तैयार किया है। अगर आपने कभी फेसबुक में चैटिंग की होगी तो चैटिंग बॉक्‍स में ढेर सारे इमोशन आईकॉन बन कर आते हैं। हो सकता है भविष्‍य में फेसबुक अपने इन आईकॉन को बदल दें। हम आपके बता दें पिक्‍सर एनिमेटेड मूवी बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में गिनी जाती है।

आईए नजर डालते हैं पिक्‍सर स्‍टूडियो के अंदर की कुछ तस्‍वीरों पर जहां पर ये सभी मूवी बनाई जाती हैं।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस

पिक्‍सर स्‍टूडियो ऑफिस


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
मैदान पर लौटते ही बांग्लादेश पर टूटा डिविलियर्स का कहर, 'दोहरा शतक' लगाकर बनाए कई रिकॉर्ड
मैदान पर लौटते ही बांग्लादेश पर टूटा डिविलियर्स का कहर, 'दोहरा शतक' लगाकर बनाए कई रिकॉर्ड
प्रकाश राज के बाद एक और बड़े अभिनेता ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- नोटबंदी की गलती करें स्वीकार
प्रकाश राज के बाद एक और बड़े अभिनेता ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- नोटबंदी की गलती करें स्वीकार
Opinion Poll

Social Counting