फेसबुक में कम हो रहा है युवाओं का क्रेज

|

फेसबुक में दोस्‍त बनाना, फ्रेंड्स के साथ चैट करना, अपनी फोटो अपलोड करना जैसे कई कामों से लगता है आज का युवा बोर हो चुका है। शायद इसीलिए फेसबुक की लोकप्रियता का ग्राफ दिन पर दिन गिरता जा रहा है। जब फेसबुक 2004 में हार्वर्ड के छात्र मार्क जुकरबर्ग ने इसकी शुरुआत की थी। अब तो इसमें हिन्‍दी और अंग्रेजी के अलावा कई दूसरी भारतीय भाषाओं का सपोर्ट दिया गया है। पहले के मुकाबले इसमें कई बदलाव भी किए गए हैं।

 

पढ़ें: फेसबुक पर छाईं हैं ये फनी फोटो

लेकिन हाल के कुछ महिनों में फेसबुक की प्राइवेसी को लेकर कई तरह के सवाल उठते रहे हैं। कई जगह को फेसबुक को बंद करने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। हाल ही में फेसबुक पर प्राइवेट मैसेज पढ़ने के आरोप लगे हैं जो यूजर प्राइवेसी का उल्‍लंघन है इसे लेकर कई लोगों ने फेसबुक पर मुकदमा भी दायर किया है।

पढ़ें: इंटरनेट पर देखिए फनी 404 एरर पेज

फेसबुक में कम हो रहा है युवाओं का क्रेज

वाट्स एप्‍प से मिल रही है कड़ी चुनौती

फेसबुक को वाट्स एप से कड़ी चुनौती मिल रही है। फेसबुक की तरह वाट्स एप में भी फोटो अपलोड की जा सकती है, चैट कर सकते हैं साथ में वॉयस मैसेज भेज सकते हैं। इसके अलावा फेसबुक में कई फेक प्रोफाइल होती है जबकि वाट्स एप में केवल वही लोग होते हैं जो आपके फोन कांटेक्‍ट में होंगे। लेकिन अगर पर्सनल जानकारी की बात की जाए तो फेसबुक और वाट्स एप के अलावा किसी भी सोशल नेटवर्किंग साइट को सही नहीं कहा जा सकता। फेसबुक ने अपनी लोकप्रियता को बढ़ाने के लिए कई तरह के प्रयोग भी किए जैसे टाइमलाइन का फीचर ऐड किया। चैट स्‍टीकर ऑप्‍शन दिया लेकिन युवाओं को लुभाने में ये सभी तरीके कारगर सिद्ध नहीं हो रहे हैं।

असली और नकली

असली और नकली

फेसबुक में आपके 1000 दोस्‍त हो सकते हैं लेकिन उनमें से कितने आपको जानते हैं इस बात का अंदाजा लगना मुश्‍किल है वहीं दूसरी तरफ वाट्स एप्‍प में आप सिर्फ उन्‍हीं लोगों के साथ चैट कर सकते हैं जो आपके फोन पर सेव है यानी जिनके नंबर आपके पास हैं।

No Fakes peoples

No Fakes peoples

वाट्स एप्‍प में जो भी लोग हैं उन्‍हें आप जानते है अगर बिना आपकी परमीशन के कोई भी व्‍यक्ति आपसे जुड़ नहीं सकता जब तक आप उसके नंबर को फोनबुक में ऐड न करें। इसके अलावा कोई दूसरा व्‍यक्ति आपके एकाउंट से कोई जानकारी भी नहीं ले सकता है जैसे फोटो या फिर चैट हिस्‍ट्री।

Fast processing
 

Fast processing

वाट्स एप्‍प में फेसबुक के मुकाबले आप ज्‍यादा तेजी से चैट और अपनी फोटो सेंड कर सकते हैं। जबकि फेसबुक में वहीं फोटो भेजने में आपको ज्‍यादा समय लगता है।

Security

Security

वाट्स एप्‍प और वीचैट फेसबुक के मुकाबले ज्‍यादा सुरक्षित है हालाकि पर्सनल जानकारी के लिए किसी को भी सुरक्षित नहीं कहा जा सकता लेकिन फेसबुक को हैक करने के कोशिश वाट्स एप्‍प के मुकाबले कई गुना ज्‍यादा होती है।

 Personal

Personal

वीचैट और वाट्स एप्‍प फेसबुक के मुकाबले ज्‍यादा पर्सनल है जिसमें आपकी सभी चैट पर्सनल रहती है जबकि फेसबुक में धोखे से किसी और को भी चैट मैसेज जा सकता है।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more