फेसबुक ने किया ड्रोन का परीक्षण, कर रहा है गूगल को टक्‍कर देने की तैयारी

Written By:

    फेसबुक का हालिया परीक्षण यदि सफल रहा तो जल्द ही सौर ऊर्जा से चलने वाले ड्रोन विमानों की मदद से सुदूरवर्ती इलाकों में भी इंटरनेट उपलब्ध कराया जा सकेगा।

    समाचार पत्र 'द गार्डियन' के अनुसार, फेसबुक के मुख्य कार्यकारी एवं संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने बताया कि उन्होंने इंग्लैंड में इस तरह के ड्रोन विमानों का परीक्षण किया, जिसके पंखों की लंबाई किसी वाणिज्यिक विमान जितनी ही है।

    ग्रामीण एवं इंटरनेट-मुक्त क्षेत्रों में इंटरनेट सुविधा मुहैया कराने के लिए तैयार ये ड्रोन धरती पर लेजर बीम के जरिए इंटरनेट तरंगें प्रेषित करेंगे।

    फेसबुक ने किया ड्रोन का परीक्षण, कर रहा है गूगल को टक्‍कर देने की तैयारी

    जुकरबर्ग ने एक ब्लॉग पोस्ट की है जिसके अनुसार, "पूरी दुनिया को इंटरनेट से जोड़ने के हमारे अभियान के तहत हमने मानवरहित ड्रोन विमानों का निर्माण किया है, जो आकाश से ही धरती पर इंटरनेट किरणें प्रेषित करेंगे।

    पढ़ें: इन तस्‍वीरों को देखकर आप अपना सर फोड़ लेंगे

    जुकरबर्ग ने लिखा, "हमने ब्रिटेन में अपने इस ड्रोन विमान का पहला सफल परीक्षण किया। ये ड्रोन विमान पूरी दुनिया में इंटरनेट सुविधा मुहैया कराने में मददगार होंगे, क्योंकि ये विमान इंटरनेट से वंचित विश्व के उन 10 फीसदी लोगों को इंटरनेट सुविधा प्रदान करने की क्षमता रखते हैं।"

    इस तरह के ड्रोन विमान के पंख की लंबाई 29 मीटर से भी अधिक है, जो बोइंग 737 विमान से भी अधिक है, हालांकि इनका वजन किसी कार से कम है।

    गौरतलब है कि शीर्ष इंटरनेट कंपनी गूगल भी गुब्बारों एवं ड्रोन विमानों की मदद से अब तक इंटरनेट की सीमा से दूर रहने वाले लोगों तक इंटरनेट पहुंचाने पर काम कर रही है।

    English summary
    Social network prepares to use solar-powered drones with wingspan of a commercial airliner to beam internet access to rural areas....
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more