Fake News: तेजी से बढ़ रहे फर्जी न्यूज़ के मामले? क्या है बड़ी वजह,शोध से हुआ खुलासा

|

Fake News : पिछले कुछ सालों से फेक न्यूज (Fake News) के मामले लगातार बढ़ रहे है. कई बार फेक न्यूज दंगों और हिंसा की वजह बन जाती हैं. साथ ही मजहबी नफरत को भड़काने में भी फेक न्यूज का अहम किरदार रहता है. इस बात को जाने के लिए कुछ शोध हुए हैं. इस वजह का खुलासा एक रिसर्च रिपोर्ट से हुआ है, जिसके मुताबिक युवाओं में न्यूज को देखने और पढ़ने का पैटर्न बदल रहा है आज का युवा news को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से देख और सुन रहा है, जो कि ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि सोशल मीडिया पर news को अपने हिसाब से बदला जा सकता है.

 
Fake News: तेजी से बढ़ रहे फर्जी न्यूज़ के मामले? क्या है बड़ी वजह,शोध

Tik-tok सबसे पॉप्युलर न्यूज सोर्स है. लेकिन न्यूज की विश्वसनियता के मामले में twitter and youtube आगे हैं. रिपोर्ट की मानें तो 12-15 आयु वर्ग के लोगों में 10 में से केवल कुछ लोगों को भरोसा है कि Tik-tokन्यूज सोर्स सही है.

UK research report revealed

यूके के एक रिसर्च के मुताबिक ब्रिटेन में युवा न्यूज के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे इंस्टाग्राम (Instagram) , टिक-टॉक (Tiktok), और यू-ट्यूब (YouTube) प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते है. लेकिन ये सोशल मीडिया न्यूज के प्राइमरी सोर्स नहीं है. ऐसे में इन प्लेटफॉर्म पर न्यूज को गलत तरीके से पेश किया जा सकता है, जो फेक न्यूज को फैलने में मदद करते हैं.

Fake News: तेजी से बढ़ रहे फर्जी न्यूज़ के मामले? क्या है बड़ी वजह,शोध

किस उम्र के लोग पढ़ रहे न्यूज

बिट्रेन की Ofcom की लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा युवा Instagram के जरिए न्यूज पढ़ते हैं. युवाओं के बीच Instagram news का प्रमुख सोर्स बना हुआ है. रिपोर्ट की मानें, तो 29 फीसद युवा मेटा प्लेटफॉर्म के इंस्टाग्राम को न्यूज के लिए इस्तेमाल करते हैं. जबकि 28 फीसद युवा न्यूज के लिए you-tube का इस्तेमाल करते हैं. ब्रिटेन में शार्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक (Tiktok) न्यूज का प्राइमरी सोर्स बना हुआ है, जो लोग टिकटॉक से न्यूज देखते या फिर सुनते हैं, उनकी उम्र 16 से 24 साल के बीच है. बता दें कि मौजूदा वक्त में युवा अखबार और टीवी खोलकर न्यूज पढ़ना पसंद नहीं करते हैं.

इन दिनों छोटे बच्चों के पास अपना फोन होता है. जिसमें वो कुछ न कुछ करते रहते हैं. बच्चों का पूरा दिन फोन पर ही बीत जाता है. इस दौरान उन्हें लगता है कि किताबें पढ़ने से बेहतर है फोन पर पढ़ना. जिससे वे उन डिटेल्स तक नहीं पहुंच पाते हैं जिससे उन्हें सही और गलत का पता चल सके.

 

लेटेस्ट मोबाइल और टेक न्यूज, गैजेट्स रिव्यूज़ और टेलिकॉम न्‍यूज के लिए आप Gizbot Hindi को Facebook और Twitter पर फॉलो करें.

 
Best Mobiles in India

English summary
Tik-tok is the most popular news source. But twitter and youtube are ahead in terms of credibility of news. According to the report, only a few out of 10 people in the age group of 12-15 believe that the Tik-tok news source is correct.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X