Google के खिलाफ केस दर्ज, लोकेशन ट्रैक करने का आरोप

    गूगल का इस्तेमाल लगभग सभी लोग करते हैं। हमारा कोई भी काम गूगल के बिना मुश्किल है। हमें कोई भी जानकारी गूगल आराम से दे देता है। कुछ भी जानने के लिए सभी गूगल का ही इस्तेमाल करते हैं। हालांकि गूगल इस समय मुसीबत में दिखाई दे रहा है। गूगल की मुसीबत का कारण है उसका लोकेशन ट्रैक सिस्टम है।

    Google के खिलाफ केस दर्ज, लोकेशन ट्रैक करने का आरोप

     

    बता दें, हाल ही में खुलासा हुआ था कि गूगल स्मार्टफोन पर लोकेशन बंद होने के बावजूद लोगों की लोकेशन हिस्ट्री को ट्रैक करता है। इसी मामले में एक व्यक्ति ने सैन फ्रांसिस्को के फेडरेल कोर्ट में गूगल के खिलाफ प्राइवेसी के उल्लंघन के लिए केस फाइल किया है। व्यक्ति ने सभी अमेरिकी आईफोन या एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स का प्रतिनिधित्व करने के लिए क्लास-एक्शन स्टेट्स की मांग की है। गूगल ने इस मामले में कोई भी जानकारी साझा नहीं की है।

    गूगल के खिलाफ केस दर्ज

    व्यक्ति द्वारा किए गए केस फाइल में कहा गया कि गूगल अपने ऑपरेटिंग सिस्टम और ऐप्स में दिखाता है कि कुछ सेटिंग्स के जरिये यूजर अपनी ट्रैकिंग को बंद कर सकते हैं। मुकदमे में गूगल के इस सर्विस के दावे को गलत बताया गया है। पिछले हफ्ते विश्वविद्यालय शोधकर्ताओं द्वारा किए गए खुलासे का हवाला देते हुए मुकदमे में गूगल पर निजता कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है। लोगों द्वारा अपनी लोकेशन बंद करने के बावजूद भी गूगल यूजर्स की सेटिंग को ट्रैक करता है।

    गूगल की तरफ से कोई सफाई नहीं

    इस मुकदमे को लेकर गूगल ने अपनी कोई भी प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। कुछ समय पहले न्यूज एजेंसी एसोसिएट प्रेस ने बताया था कि गूगल लोकेशन हिस्ट्री बंद होने के बावजूद स्मार्टफोन यूजर्स की लोकेशन को ट्रैक करती है। वहीं, अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी की रिसर्च टीम ने एपी को बताया कि जब यूजर गूगल मैप को ओपन करता है, तो उसकी लोकेशन इन्फोर्मेशन स्वत: ही ले ली जाती है। फिर उसी के आधार पर आपके एंड्रायड पर मौसम की जानकारी भी अपडेट हो जाती है।

     

    सपोर्ट पेज में किया बदलाव

    रिसर्च का खुलासा होने के बाद गूगल ने अपने सपोर्ट पेज में बदलाव करते हुए जानकारी दी थी लोकेशन हिस्ट्री को बंद करने के बाद भी कुछ गूगल लोकेशन सर्विसेज और फाइंड माय डिवाइस आदि पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। इसके अलावा गूगल कई और मामलों में भी आपकी लोकेशन को ट्रैक कर सकता है, यानि मैप्स या सर्च में भी यूजर का लोकेशन डाटा ट्रैक किया जा सकता है। इसके साथ ही रिपोर्ट में वाशिंगटन से बाहर एक गैर-लाभकारी डेटा सेंटर इलेक्ट्रॉनिक गोपनीयता सूचना केंद्र का दावा है कि अमेरिकी संघीय व्यापार आयोग को एक पत्र भेजा गया है। यह देखने के लिए कि क्या Google ने सहमति आदेश का उल्लंघन किया है या नहीं।

    English summary
    Recently it was revealed that Google still tracks the location history of people, despite the location being closed on the smartphone. In this case, a person filed a case in violation of privacy against Google in the federal court of San Francisco. However, Google has not cleared any of the cases so far.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more