भूल जाते हैं दवा खाना तो, ये मशीन करेगी आपके डॉक्टर से बात

Written By:

    अगर आप किसी बीमारी की दवाईंया ले रहे हैं, लेकिन अक्सर दवा लेना भूल जाते हैं या गलत टाइम पर दवाईंया लेते हैं, तो ये मशीन अब आपके डॉक्टर से बात करेगी। जी हां, रिसर्चर ने एक ऐसी पिल बनाई है, जिसमें सेंसर होता है। इस सेंसर से डॉक्टर को पता चल जाएगा कि आप उनके बताए अनुसार दवाईंया ले रहे हैं, या नहीं। बता दें कि मेडिकल की हाई टेक टेक्नोलॉजी के जरिए ऐसे मरीजों का बेहतर तरीके से उपचार किया जा सकेगा, जो डॉक्टर की सलाह के मुताबिक दवा नहीं खाते हैं या दवाईंया खाना भूल जाते हैं।

    भूल जाते हैं दवा खाना तो, ये मशीन करेगी आपके डॉक्टर से बात

    फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने डिजिटल पिल की अनुमति दे दी है। इस पिल यानी डिवाइस को 'Abilify MyCite' नाम दिया गया है। इस पिल को खाने के बाद आपके दवाई लेने न लेने की प्रक्रिया नोट होती रहेगी और आपका डॉक्टर उसके बारे में जानकारी रख सकेगा। जो इस डिजिटल पिल को खाने के लिए तैयार होते हैं, उनसे एक कंसेन्ट फॉर्म भरवाया जाता है।

    आज शुरू हो रही है शाओमी रेडमी Y1, Y1 Lite की सेल, जानें कीमत और स्पेक्स

    Abilify MyCite को एबिलिफाई मैन्युफैक्चर, ऑटसुका और प्रोटियस डिजिटल हेल्थ (कैलिफोर्निया की कंपनी जिसने सेंसर बनाया है) के सहयोग से बनाया गया है। Abilify MyCite डिवाइस में लगे सेंसर में कॉपर, मैग्नीशियम और सिलिकॉन मौजूद है, जो पेट में फ्लूड जाने पर इलेक्ट्रिक सिग्नल जेनरेट करता है। कुछ देर बाद यह सिग्नल, रिब पर पहने गए बैंड को पहचानता है।

    ये हैं बेस्ट 5 पार्किंग ऐप्स, जो आपका टाइम और पैसा दोनों बचाएंगे

    आपको बता दें कि ये बैंड हर सात दिन पर बदला जाता है। यह बैंड ब्लूटूथ के ज़रिए मरीज़ की एक्टिविटी को स्मार्टफोन ऐप पर भेजता है। इसमें न सिर्फ आपकी दवाईं की जानकारी शामिल है, बल्कि कितनी देर आराम किया, मूड कैसा रहा जैसी जानकारी भी ऐड कर सकता है।

    5000 एमएएच बैटरी वाला ये दमदार स्मार्टफोन हुआ सस्ता

    हालांकि दूसरी तरफ इस टेक्नोलॉजी को क्रिटिसाइड भी किया जा रहा है। इसकी वजह है कि लोगों का कहना है कि इसके चलते मरीज की हर हरकत पर डॉक्टर नजर रख सकता है और मरीज दबाव महसूस कर सकता है।

    Twitter पर 50 कैरेक्टर्स तक ऐसे चेंज करें यूजर नेम

    वहीं, एक्सपर्ट इस तकनीक को सही बता रहे हैं और उनका कहना है कि इससे मरीजों की स्थिति सुधरेगी क्योंकि लापरवाही की वजह से वह और बीमार हो जाते हैं और उन पर साल भर में दवा और अस्पताल दोनों को मिलाकर 100 अरब डॉलर खर्च होते हैं।

    सैमसंग अपने पॉपुलर मिड बजट स्मार्टफोन का अपग्रेड वर्जन जल्द करेगी लॉन्च

    हॉर्वर्ड मेडिकल स्कूल के इंस्ट्रक्टर अमित सरपतवारी का कहना है कि इस डिजिटल पिल से पब्लिक हेल्थ में सुधार आएगा, खासतौर पर उन मरीजों की स्थिति सुधरेगी जो दवा लेना तो चाहते हैं, मगर भूल जाते हैं।

    English summary
    First Digital Pill tells Patient activity to doctor. More detail in hindi.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more