5G से डिजिटल रुपये तक, इस साल भारत में सबसे बड़े तकनीकी डेवलप पर एक नजर

|
5G से डिजिटल रुपये तक, इस साल भारत में सबसे बड़े तकनीकी डेवलप पर नजर

साल 2022 भारत की डिजिटल यात्रा के लिए इंपॉर्टेंट रहा है। इस साल, हमने भारत को फॉक्सकॉन और वेदांता जैसे मैन्युफैक्चर से बड़े निवेश को आकर्षित करके अपने 'मेक इन इंडिया' सपने की ओर एक बड़ा कदम उठाते हुए देखा। हमने यह भी देखा कि Apple ने अपने ऑफिसियल ग्लोबल लॉन्च के तुरंत बाद भारत में अपनी iPhone 14 सीरीज के लिए मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस शुरू करके भारत में अपने कदम बढ़ाए। इसके अलावा, हमने भारत में 5G नेटवर्क को टेलीकॉम ऑपरेटरों Jio और Airtel के साथ तेजी से देश के प्रमुख हिस्सों में नेटवर्क कवरेज का विस्तार करते हुए देखा।

 

फिनटेक में, हमने भारत के डिजिटल पेमेंट इंटरफेस को देखा, यानी यूपीआई का दुनिया भर के और देशों में विस्तार हुआ। हमने यह भी देखा कि भारत आरबीआई द्वारा अनुमोदित लेनदेन (Approved transaction) के लिए डिजिटल रुपये के रूप में अपनी डिजिटल मुद्रा की शुरुआत कर रहा है।

भारत में 5G

5G मोबाइल टेलीफोनी नेटवर्क का लॉन्च और रोल आउट होना सबसे बड़ी बात है जिसे भारत ने साल 2022 में हासिल किया। 5G को ऑफिसियल तौर पर इस साल अक्टूबर में इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 में लॉन्च किया गया था,इस दौरान वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा तमाम बड़े नेता और बिजनेसमैन मौजूद रहे। कुछ ही समय बाद, भारत में दो प्रमुख दूरसंचार ऑपरेटरों, यानी Reliance Jio और Bharti Airtel ने देश के विभिन्न हिस्सों में अपने 5G नेटवर्क को रोल आउट करना शुरू कर दिया। ऑफिसियल लॉन्च के करीब तीन महीने बाद, देश भर के लगभग 60 शहरों में 5G कनेक्टिविटी मौजूद है।लिस्ट में कोच्चि, नाथद्वारा, इम्फाल, अहमदाबाद और विजाग जैसे शहर शामिल हैं। जबकि Jio ने दिसंबर 2023 तक अखिल भारतीय 5G कवरेज प्रोवाइट करने का वादा किया है, Airtel ने मार्च 2024 तक इसी तरह की उपलब्धि हासिल करने का वादा किया है।

 

RBI डिजिटल रुपी के साथ crypto

भारतीय रिजर्व बैंक ने ऑफिसियल तौर पर इस साल अक्टूबर में भारतीय रुपये के डिजिटल एक्विवैलेन्ट के तहत ई-रुपया या डिजिटल रुपये की शुरुआत की। e-Rupee एक सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) है जिसे RBI मैनेज करता है और इसका ट्रेडिंग वैल्यू सॉवरेन करेंसी या दूसरे शब्दों में फिएट करेंसी के जैसा होता है। क्योंकि यह रुपये के साथ सपोर्ट है, यह बिटकॉइन या डॉगकॉइन या एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी के रूप में अनस्टेबल नहीं है। डिजिटल रुपया दो तहर का होता है - eRupee Retail जिसका यूज सभी प्राइवेट सेक्ट, नॉन फाइनेंस यूजर्स और ऑक्यूपेशन द्वारा किया जा सकता है और जिसका पायलट दिसंबर में शुरू हुआ; और e Rupee Wholesale जो केवल फाइनेंसियल इंस्टीट्यूशन द्वारा यूज किया जा सकता है और जिसका पायलट टेस्टींग नवंबर में शुरू हुआ था।

5G से डिजिटल रुपये तक, इस साल भारत में सबसे बड़े तकनीकी डेवलप पर नजर

UPI

नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) यूनाइटेड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) अपने लॉन्च के बाद से लगातार मजबूत होता जा रहा है। एनपीसीआई के आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर 2022 में, यूपीआई ने भारत में 12.11 ट्रिलियन रुपये के 7.3 बिलियन लेनदेन दर्ज किए। भारत में अपनी पॉपुलैरिटी का विस्तार करने के अलावा, यूपीआई नेपाल, भूटान, संयुक्त अरब अमीरात, बेल्जियम, नीदरलैंड और लक्ज़मबर्ग, स्विट्जरलैंड और यूके के साथ दुनिया भर के कई देशों में मौजूद होने के साथ ग्लोबल हो गया ।

iPhone मैन्युफैक्चरिंग

जब से भारत सरकार ने अलग-अलग सब्सिडी प्लान की शुरुआत की है, तब से भारत अपनी सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चर कैपेबिलिटी को बढ़ाने पर ध्यान दे रहा है, जिसमें 2020 में PLI, SPECS और EMC 2.0 शामिल हैं। तब से, कई तकनीकी कंपनियों ने या तो भारत में अपनी जड़ें जमा ली हैं या अपनी मौजूदा मैन्युफैक्चर कैपेबिलिटी का विस्तार किया। इस बात ने वेदांता ग्रुप जैसे लोकल मैन्युफैक्चर को भी अपनी कैपेबिलिटी को बढ़ाने के लिए प्रेरित किया है।

इस साल की शुरुआत में, भारत के वेदांत ग्रुप ने भारत में सेमीकंडक्टर बनाने के लिए एक जॉइंट वेंचर बनाने के लिए ताइवान के फॉक्सकॉन के साथ भागीदारी की। बाद में, यह बताया गया कि दोनों कंपनियों ने भारत में दो साल के अंदर डिस्प्ले और चिप प्रोडक्ट बनाने के लिए एक मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी इस्टैबलिश्ड करने के लिए $19.5 बिलियन का निवेश किया था।

जॉइंट वेंचर के अलावा, फॉक्सकॉन ने भारत में अपनी आईफोन मैन्युफैक्चरिंग कैपेबिलिटी का विस्तार करने के लिए भारत में $500 मिलियन का निवेश भी किया है, ऐसे समय में जब एप्पल चीन पर अपनी निर्भरता कम करने और दुनिया भर के मार्केट में अपनी प्रोडक्शन लाने का प्लान बना रहा है। इसके अलावा Pegatron ने भारत में iPhone यूनिट भी इस्टैबलिश्ड की है।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
In fintech, we saw India's digital payment interface, i.e. UPI, expand to more countries around the world. We also saw that India is starting its own digital currency in the form of Digital Rupee for RBI approved transactions.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X