गूगल ने बनाया "इंडियन लैंग्‍वेज एलायंस" मिलेगा पहले से बेहतर हिन्‍दी वॉयस सर्च

Posted By:

    गूगल ने ज्‍यादा से ज्‍यादा भारतीय भाषाओं में बेहतर सर्च रिजल्‍ट देने के लिए "भारतीय भाषा इंटरनेट गठबंधन" (ILIA) बनाया है। इसमें वनइंडिया के अलावा कई दूसरे प्रकाशनों को शामिल किया गया है। इस मौके पर वन इंडिया के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर बीजी महेश भी उपस्‍थित थे। गूगल इस नए गठबंधन की मदद से 2017 तक 300 मिलियन भारतीयों से जुड़ सकेगा। इसके अलावा इस गठबंधन की मदद से उन लोगों को इंटरनेट से जुड़ने में मदद मिलेगी जो पहली बार इंटरनेट में आते हैं।

    गूगल ने बनाया

    इसके अलावा गूगल ने ILIA इवेंट के दौरान hindiweb.com नाम की वेबसाइट भी लांच की जिसमें इंडियन लैंग्‍वेज एलायंस में शामिल वेबसाइटों को शामिल किया गया है। इस अवसर पर गूगल में सर्च के सीनियर वाईस प्रेसिडेंट अमित सिंघल ने कहा "गूगल में हमारा उद्देश्‍य है हर जानकारी हर व्‍यक्ति को आसानी से मिले गूगल का हिन्‍दी वॉयस सर्च इसी दिशा में उठाया गया एक कदम है।

    गूगल ने बनाया

    इस समय भारत में 200 मिलियन इंटरनेट यूजर हैं जो देश की आबादी का 16 प्रतिशत है। वहीं दूसरी ओंर देश में अंग्रेजी भाषा वाले 198 मिलियन लोग पहले से ऑनलाइन आते हैं। जबकि 90 प्रतिशत लोग ऐसे है जो अभी इंटरनेट पर नहीं आते हैं।गूगल के इस नए कदम पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "इस गठबंधन से देश को वर्ष 2017 तक 30 करोड़ इंटरनेट उपयोगकर्ता का लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी। इंटरनेट ज्यादातर अंग्रेजी में ही उपलब्ध है। उन्होंने यह भी कहा कि इंटरनेट की सेवाएं हिंदी में उपलब्ध कराए जाने की जरूरत है।

    मंत्री ने यह भी कहा कि इससे भारतीय जनता पार्टी नीत केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया का लक्ष्य पूरा होगा।

    English summary
    Google on Monday announced the creation of the Indian Language Internet Alliance (ILIA) in a bid to grow Indic language content on the web. Through the effort, Google hopes to bring 300 million Indian language speakers to the web by 2017.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more