जानिए गूगल के तैरते हुए शोरूम के बारे में कुछ बातें

Written By:

"गूगल बारज़" एक ऐसा नाम जो कुछ समय के लिए पूरी दुनियां में चर्चा का विषय बना हुआ था। लोगों को ये तो पता था की गूगल इस नाम से कोई बड़ा प्रोजेक्‍ट बना रहा है लेकिन ये प्रोजेक्‍ट क्‍या है इसके बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं थी। दरअसल ये बारज़ गूगल के लग्‍ज़री शोरूम है जहां पर लोग गूगल के बारे में कई चीजे जान सकते हैं साथ ही वे गूगल ग्‍लास जैसे कई प्रोडेक्‍ट भी खरीद सकते हैं। गूगल ने इस तरह के बारज़ कई जगहों पर बनाए हैं जिनमें से पोर्टलैंड और स्‍टॉकटन में बनाए गए बारज़ को चार मंजिला कंटेनरों को मिलाकर कर बनाया गया है।

आईए जानते हैं गूगल बारज़ के बारे में कुछ रोचक बातें,

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

गूगल सीइओ और कोफाउंडर लैरी पेज एक बार लीगो से इंकजेट प्रिंटर बना रहे थे जिसे देखते हुए गूगल के 50 फुट ऊचें बारज़ बनना कोई हैरानी की बात नहीं है क्‍योंकि बचपन में लीगो से इंकजेट प्रिंटर बनाने वाले लैरी पेज आज गूगल के सीईओ और कोफाउंडर हैं।

कुछ रिपोर्ट के अनुसार कहा जा रहा था गूगल द्वारा बनाए गए ये बड़े-बड़े वेसल गूगल के उच्‍च अधिकारियों की पार्टी के लिए बनाए जा रहे हैं लेकिन बाद में पता चला ये एक तरह से गूगल के रीटेल सेंटर हैं।

गूगल ने जब इन बारज़ को बनाना शुरु किया था तो कहा जा रहा था इनका काम निश्‍चित समय अवधि के अंदर पुरा कर लिया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ वहीं दूसरी ओंर सेन फ्रांसिस्‍को कंर्सवेशन एंड डेवलपमेंट क‍मीशन के अनुसार गूगल ने इनके लिए पूरा परमिट नहीं लिया है जिसकी वजह से गूगल ने इन बारज़ को 6 महिने तक स्‍टॉकटन पर लीज़ में रखा।

गर गूगल का प्‍लान सेक्‍सेसफुल होता है तो ये बारज़ वेस्‍ट में हर बंदरगाह पर टूरिस्‍टों के सबसे ज्‍यादा आकर्षण का क्रेंद्र होंगे।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
दिवाली पर युसुफ पठान ने जवानों को खिलाई मिठाई, लोगों ने की तारीफ
दिवाली पर युसुफ पठान ने जवानों को खिलाई मिठाई, लोगों ने की तारीफ
Video: 78 ओवर में 4 रन भी नहीं बना पाई पाकिस्तानी टीम, खड़ा हुआ नया विवाद
Video: 78 ओवर में 4 रन भी नहीं बना पाई पाकिस्तानी टीम, खड़ा हुआ नया विवाद
Opinion Poll

Social Counting