Google Chrome पर आया सबसे स्ट्रॉन्ग सिक्‍योरिटी फीचर

    इंटरनेट पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ब्राउज़र गूगल क्रोम खबरों और तकनीक की जानकारी का आसान और उपयोगी सोर्स है, जो उपयोगकर्ताओं को बेस्ट आउटपुट देता है। इंटरनेट को सुरक्षित बनाने को लेकर गूगल क्रोम एक बड़ी सफलता के साथ पूरा हुआ। यह ब्राउज़र पहले से ही आपके पासवर्ड को सुरक्षित रखेगा।

    Google Chrome पर आया सबसे स्ट्रॉन्ग सिक्‍योरिटी फीचर

    जो लोग काफी ज्‍यादा क्रोम का उपयोग करते हैं वे जानते हैं कि यह एक ट्रू पासवर्ड मैनेजर के रूप में काम कर सकता है। स्मार्ट लॉक के साथ, सभी पासवर्ड रिकॉर्ड किए जाते हैं और उपकरणों के बीच सिंक्रनाइज़ किए जाते हैं और किसी भी समय ऑटोमेटिक रूप से उपयोग किया जा सकता है।

    इसमें एक नई चीज आ गई है, जो केवल क्रोम के नए वर्जन के लिए उपलब्ध है। इसमें आप कभी भी आपकी जरुरत के हिसाब से पासवर्ड बनाने की क्षमता है। आइए देखते हैं कि आप इस सुविधा का कैसे उपयोग कर सकते हैं।

    क्रोम में पासवर्ड जनरेशन को सक्षम करना

    सुरक्षित पासवर्ड जेनरेट करने की क्षमता अभी भी क्रोम में आरक्षित है। इसलिए इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए हमें इसे एक्‍सपेरिमेंट ज़ोन में उपयोग करने के लिए इसे सक्रिय करना होगा। इस एड्रेस बार को क्रोम डालें chrome://flags और पासवर्ड जेनरेशन के लिए खोजें। इसके बाद आप डिफ़ॉल्ट से इसे सक्षम करें। इसके आखिरी स्‍टेप में क्रोम आपके ब्राउज़र को रिर्स्‍टाट करने के लिए कहेगा। इसे करने के लिए आपको सिर्फ रिलांच नाउ बटन को दबाना होगा।

    WhatsApp live location sharing feature ! व्हाट्सऐप लाइव लोकेशन शेयरिंग !

    क्रोम में पासवर्ड जनरेशन का प्रयोग करना

    क्रोम रिर्स्‍टाट करने के बाद आप एक सुरक्षित पासवर्ड जेनरेट कर सकते हैं। जब भी आप किसी ऐसे फॉर्म तक पहुंचते हैं जो आपको पासवर्ड डालने के संकेत मिलते हैं, ऐसे में आपके पास सही मेनू बटन के साथ सुलभ संदर्भ मेनू में जेनरेट पासवर्ड विकल्प होगा। आपको तुरंत एक नया बॉक्स दिखाई देगा, इस बार इसमें क्रोम द्वारा जेनरेट किया गया सुरक्षित पासवर्ड होगा। यह पासवर्ड, जिसका परीक्षण किया गया है। अपरकेस और लोअरकेस अक्षरों में यह 15 अक्षरों का है, यह संख्या और अक्षरों में सीमित हैं।

    पासवर्ड को एक्‍सेप्‍ट और क्लिक करने पर सर्विस बॉक्‍स भर जाता है। यदि कोई पुष्टिकरण बॉक्स है तो यह ऑटोमेटिक रूप से क्रोम द्वारा भी पॉप्युलेट हो जाता है। पंजीकरण फॉर्म जमा करते समय, क्रोम ऑटोमेटिक रूप से बाद में उपयोग के लिए पासवर्ड और उपयोगकर्ता नाम भी सेव कर लेगा।

    ऐसे में यूजर को एक्सेस डेटा को याद रखने की आवश्यकता नहीं है। यदि आपको आवश्यकता है, तो आप हमेशा इस डेटा को निर्यात कर सकते हैं। यह एक और नया फीचर है जोकि गूगल क्रोम ने एड किया है। यह उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा में वृद्धि करेगा।

    English summary
    Those who use Chrome more deeply know that it can work as a true password manager which recorded and synchronized passwords between devices and can be used at any time automatically.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more