कर्मचारियों को ट्रेन करने के लिए गूगल ने लॉन्च किया ऑनलाइन कोडिंग कोर्स

|

टेक जाइंट गूगल के नए प्रोफेशनल सर्टिफिकेट 'गूगल आईटी ऑटोमेशन विद पायथन' के लिए इस हफ्ते से एनरोलमेंट एवेलेबल करा दिया जाएगा। बता दें कि गूगल ने आईटी सपोर्ट में अपना पिछला सर्टिफिकेट साल 2018 में लॉन्च किया था। इस बार नए प्रोफेशनल सर्टिफिकेट में पायथन लेंग्वेज पर फोकस किया गया है।

कर्मचारियों को ट्रेन करने के लिए गूगल ने लॉन्च किया ऑनलाइन कोडिंग कोर्स

 

सबसे डिमांडिंग लेंग्वेज में शामिल पायथन

गूगल आईटी ऑटोमेशन विद पायथन एक ऐसा प्रोग्राम है जिसे न्यू बिगनर्स को पायथन, गिट और आईटी ऑटोमेशन की स्कील्स प्रोवाइड करने के लिए डिजाइन किया गया है। ग्रो विद गूगल की प्रोडक्ट लीड नताली वेन क्लिफ कोनले ने एक स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा कि आज के टेक्नोलॉजी वाली ज़माने में पायथन सबसे ज़्यादा डिमांड की जाने वाली लेंग्वेज है। वहीं, रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में 530,000 जॉब्स के अलावा 75,000 एंट्री-लेवल जॉब्स में पायथन लेंग्वेज को प्रेफेरेंस दी जाती है।

छह महीने में कोर्स पूरा

प्रोग्राम के ज़रिए कोई भी सिर्फ छह महीने में पायथन, गिट और आईटी ऑटोमेशन के लि ट्रेन हो सकता है। आईटी ऑटोमेशन विद पायथन प्रोफेशनल सर्टिफिकेट में कैंडिडेट को जॉब के लिए पूरी तरीके से तैयार किया जाता है।

गूगल ने अपने प्रोफेशनल सर्टिफिकेट कोर्स में फाइनल प्रोजेक्ट्स को भी शामिल किया है जिसमें इस प्रोग्राम में फाइनल प्रोजेक्ट भी शामिल है जहां अप्रेंटिस (ट्रेनी) अपनी स्किल्स के ज़रिए खुद को समस्याओं का समाधान करता है जैसे ऑटोमेशन का प्रयोग कर वेब सर्विस तैयार करना।

यह भी पढ़ें:- नोएडा की महिला का मेट्रो में चोरी हुआ पर्स, हैकर्स ने उड़ाए 1.5 लाख रूपए

बता दें कि बीते साल अक्टूबर में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और व्हाइट हाउस की सलाहकार इवांका ट्रंप ने एक प्रोग्राम की घोषणा की थी, जिसके जरिए 250,000 अमेरिकी लोगों को टेक्निकल स्किल्स सिखाने की बात कही गई थी। इसके अलावा, पिचाई ने ये भी कहा था कि गूगल अपने इस आई प्रोफेशनल सर्टिफाइंग प्रोग्राम को साल 2020 के अंत कर 100 US क्म्यूनिटी कॉलेज तक एक्सपेंड करेगा।

 

वहीं एक दूसरी रिपोर्ट के मुताबिक गूगल (Google) इस साल से क्रोम ऐप के एक्सेस की विंडो, macOS और Linux प्लेटफॉर्म पर फिर से शुरूआत करेगी। गूगल का प्लान है कि साल 2020 के मार्च से क्रोम वेब स्टोर न्यू क्रोम ऐप्स के एक्सेस को बंद किया जाए।

यानि मार्च महीने से क्रोम वेब स्टोर न्यू क्रोम ऐप्स को स्वीकार नहीं करेंगे। लेकिन डेवलपर्स मौजूदा ऐप्स को जून तक अपग्रेड कर सकेंगे। कंपनी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखा है कि उसका इस फैसले को लेने का प्राइमरी रीजन यूजर्स द्वारा इसका कम यूज़ है।

इस तरह के अन्य आर्टिकल्स के साथ-साथ टेक्नोलॉजी और स्मार्टफोन की दुनिया की सभी ख़बरों को पढ़ने के लिए हमारे यानि हिंदी गिज़बॉट के साथ जुड़े रहें। आप हमारे फेसबुक और हेलो के राइट ख़बरों से अपडेट रह सकते हैं। आपको अगर टेक्नोलॉजी से संबंधित किसी चीज की टिप्स या ट्रिक्स के बारे में जानना है तो आप हमें फेसबुक यी हेलो अकाउंट पर मैसेज या कमेंट करके बता सकते हैं। हम आपकी समस्या पर टेक टिप्स जरूर बताएंगे।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
A program was announced by Google CEO Sundar Pichai and White House Advisor Ivanka Trump to teach technical skills to 250,000 Americans. Apart from this, Pichai also said that Google will expand its i Professional Certification Program to 100 US Community College by the end of 2020.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X