Google Chrome: सरकार ने दी गूगल क्रोम को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को कड़ी चेतावनी, जानिए वजह

|

गूगल क्रोम (Google Chrome) जो दुनिया का सबसे बड़े ब्राउज़र में से एक हैं और इसका इस्तेमाल करोड़ों यूजर्स करते हैं। वहीं भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (सीईआरटी-इन/CERT-In) ने गूगल क्रोम का इस्तेमाल करने यूजर्स को कड़ी चेतावनी जारी की है। बता दें कि Google Chrome ब्राउज़र में कई खामियां हैं जिन्हें "उच्च गंभीरता" के रूप में वर्गीकृत किया गया है। CERT-In एक सरकारी एजेंसी है जो साइबर सुरक्षा खतरों को संभालती है।

 
Google Chrome: सरकार ने दी गूगल क्रोम को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को कड़ी चेतावनी, जानिए वजह

Google Chrome का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को सरकार की चेतावनी

जैसा कि आपको बता दें कि गूगल क्रोम (Google Chrome) दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले ब्राउजर में से एक है। बहुत से लोग इस ब्राउज़र का उपयोग करते हैं क्योंकि यह सभी Android डिवाइसों के साथ इंटीग्रेटेड है। एनालिटिक्स फर्म स्टेटकाउंटर की एक रिपोर्ट से पता चला है कि क्रोम की वैश्विक स्तर पर सबसे बड़ी ब्राउज़र बाजार हिस्सेदारी है।

लेकिन अभी भारत सरकार की टेक फर्म CERT-In ने बताया है कि Google Chrome में कुछ खामियाँ हैं जिसकी मदद से हैकर्स यूजर्स के डेटा को आसानी से चुरा सकते हैं। जी हाँ, रिपोर्ट में दावा किया गया है कि Google क्रोम में कई खामियों की सूचना दी गई है, जो एक हमलावर को लक्षित सिस्टम पर मनमाने कोड को डालने की अनुमति दे सकती है। इनसे गूगल क्रोम के यूजर्स बुरी तरह से प्रभावित हो सकते हैं, इसलिए CERT-In यूजर्स को इसका इस्तेमाल करने की चेतावनी दी है।

अगर किसी हैकर ने इन खामियों का सफलतापूर्वक फायदा उठाया तो यह गूगल क्रोम (Google Chrome) के यूजर्स के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। सीईआरटी-इन ने आगे बताया कि "सुरक्षित ब्राउज़िंग, रीडर मोड, वेब सर्च, थंबनेल टैब स्ट्रिप, स्क्रीन कैप्चर, विंडो डायलॉग, भुगतान, एक्सटेंशन, एक्सेसिबिलिटी और कास्ट, एंगल में हीप बफर ओवरफ्लो, फुल स्क्रीन मोड, स्क्रॉल, एक्सटेंशन प्लेटफॉर्म और पॉइंटर लॉक में इनएप्रोप्रिएट इंप्लीमेंटेशन, V8 में टाइप कन्फ्यूजन, COOP में पॉलिसी बायपास और V8 में आउट ऑफ बाउंड मेमोरी एक्सेस में फ्री में उपयोग के कारण Google क्रोम में ये खामियां मौजूद हैं। बता दें कि ये सब खामियां गूगल क्रोम के 98.0.4758.80 से पहले के वर्जन में मौजूद है।

 

सभी यूजर्स न होएं परेशान

हालांकि यूजर्स को चिंता करने की कोई बात नहीं है क्योंकि Google ने पहले ही एक अपडेट जारी कर दिया है और चेतावनी उन यूजर्स के लिए है जो अभी भी 98.0.4758.80 से पहले के Google क्रोम वर्जन का उपयोग कर रहे हैं। तो अगर आप भी इससे पहले के अपडेट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको अपडेट कर लेना चाहिए।

नए वर्जन को करें इंस्टॉल

नया क्रोम 98.0.4758.80/81/82 अपडेट हाल ही में विंडोज के लिए और 98.0.4758.80 मैक और लिनक्स यूजर्स के लिए जारी किया गया था, जिसमें कई सुधार किये गए हैं।

इसलिए सभी यूजर्स को यही सलाह दी जाती है कि सभी गूगल क्रोम के नए वर्जन का ही इस्तेमाल करें और अगर अभी तक नया वर्जन अपडेट नहीं किया हैं तो तुरंत कर लें क्योंकि अगर आप अभी गूगल क्रोम के नए वर्जन को अपडेट नहीं करते हैं, तो हैकर्स (Hackers) आसानी से आपके डेटा को चुरा सकते हैं। इसलिए समय पर अपडेट कर लेना ही बेहतर है।

 
Best Mobiles in India

English summary
The government warned Google Chrome Users, know the reason

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X