बिल गेट्स के विचार है महत्वपूर्ण

Posted By:

दुनिया के सबसे धनी और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सबसे अग्रणी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स में कोई अहम नहीं है। यह बात स्काइप के वैश्विक प्रमुख गुरदीप पाल ने कही। स्काइप एक सॉफ्टवेयर सेवा है, जिसके सहारे एक व्यक्ति दुनिया में कहीं भी दूसरे स्काइप उपयोगकर्ता से मुफ्त बात कर सकता है या संदेश का आदान-प्रदान कर सकता है।

47 वर्षीय पाल ने एक निजी चैनल पर साक्षात्कार कर्ता खुशवंत सिंह से कहा, दुनिया में सबसे धनी और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में सबसे ताकतवर लोगों में से एक गेट्स को कोई अहम नहीं है।" पाल को इस साल अक्टूबर में स्काइप का वैश्विक प्रमुख चुना गया था। पाल माइक्रोसॉफ्ट के कारपोरेट उपाध्यक्ष भी हैं। चण्डीगढ़ के समाचार चैनल डे एंड नाइट न्यूज पर रविवार को शाम प्रसारित एक साक्षात्कार में पाल ने कहा, बिल आप से विषय के गुण और दोष पर केंद्रित बात कर सकते हैं। वह आपसे समानता का व्यवहार करते हैं और जो सबसे अच्छा आइडिया होता है, उसे स्वीकार करते हैं।

बिल गेट्स के विचार है महत्वपूर्ण

पाल ने चण्डीगढ़ के सेंट जोंस हाई स्कूल से शुरुआती शिक्षा ली और बाद में बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (बीआईटीएस) से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की डिग्री ली। लंदन में स्काइप की जिम्मेवारी संभालने के बाद वह पहली बार यहां माता-पिता से मिलने पहुंचे हैं। उन्होंने ओरेगन विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में परास्नातक की डिग्री ली है। पाल के पास नेटवर्किंग के 20 पेटेंट हैं, जिनमें से कुछ स्वीकृत हैं और शेष स्वीकृति की प्रक्रिया में हैं।

पाल माइक्रोसॉफ्ट में शीर्ष प्रबंधन में पहुंचने वाले पहले सिख हैं। वह जनवरी 1990 में एक सॉफ्टवेयर डिजाइन इंजीनियर के रूप में माइक्रोसॉफ्ट से जुड़े थे। पाल ने विंडो95, विंडो एक्सपी, टीसीपीआईपी प्रोटोकॉल, वाई-फाई और बिंज जैसी महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर काम किया है। पाल का नाम 2008 में इंफोर्मेशन वीक ने कुछ नया करने वाले दुनिया के चुने हुए 15 इन्नोवेटरों में शामिल किया था। वह 'इंस्टीट्यूशनल मेमोरी गोज डिजिटल' के सह-लेखक भी हैं, जिसका प्रकाशन हार्वर्ड बिजनेस रिव्यू ने किया है।

Please Wait while comments are loading...
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
Opinion Poll

Social Counting