49,000 रुपए में दे दिया चोरी का लैपटॉप, जानिए कैसे घटी ये घटना ?

By Rahul

    ऑनलाइन फ्रॉड का एक नया मामला सामने आया है, 25 साल के कमोडिटी ब्रोकर Gaurav Saroha ने पेटीएम से एक लैपटॉप ऑडर किया जो उन्‍हें मिला भी लेकिन चोरी का, पुलिस ने मामले की एफआइआर दर्ज कर ली है।

    49,000 रुपए में दे दिया चोरी का लैपटॉप, जानिए कैसे घटी ये घटना ?

    हुआ ये 24 मई में गौरव ने एक लैपटॉप आर्डर किया इसके लिए उन्‍होंने पेटीएम में ऑनलाइन 48,999 रुपए का पेमेंट भी किया। 29 मई को लैपटॉप उन्‍हें डिलीवर कर दिया गया, लेकिन लैपटॉप ऑन करने पर विंडो एक्‍टीवेट करने की कोशिश की तो आखिरी स्‍टेज में एरर आनी शुरु हो गई जब गौरव ने कस्‍टमर केयर को कॉल किया तो इस पर उन्‍हें डेल से संपर्क करने के लिए कहा गया क्‍योंकि लैपटॉप वॉरंटी के अंदर था।

    स्नैपड्रैगन 835 और 6जीबी रैम के साथ आएगा नया मीज़ू प्रो 7

    डेल कस्‍टमर केयर से संपर्क करने पर उन्‍हें पता चला लैपटॉप चोरी का है और उसके खिलाफ एक कंप्‍लेन भी दर्ज हुई थी। इसके अलावा लैपटॉप की वारंटी जनवरी में एक्‍सपायर भी हो चुकी है। डेल ने ये बात लिखित रूप से दी

    49,000 रुपए में दे दिया चोरी का लैपटॉप, जानिए कैसे घटी ये घटना ?

    पेटीएम मॉल के प्रवक्ता का कहना है हम इस मामल में जांच कर रहे हैं हाल ही में हमने 85,000 सेलर और 6 लॉजिस्‍टिक पार्टनर का हटाया है जो कंज्‍यूमर को क्‍वालिटी एक्‍सपीरियंस नहीं दे रहे थे। हम इस बात का भरोसा दिलाते हैं कि उपभोक्‍ता को पूरा सहयोग दिया जाएगा साथ ही सेलर के खिलाफ कड़ी कार्यवाही भी की जाएगी।

    English summary
    A 25-year-old commodity broker, residing in Sector 46, was allegedly sold a ‘stolen Dell laptop’ worth Rs 49,000 on Paytm website.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more