आधे मोबाइल उपभोक्ता जानते ही नहीं क्‍या होता है साइबर अपराध

Posted By:

भारत में माबाइल फोन रखने वाले 50 प्रतिशत लोग सुरक्षा के उपायों के बिना ही मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं। हाल ही में साइबर सुरक्षा से सम्बंधित कम्पनी साईमेंटेक ने यह पाया कि बिना सुरक्षा मोबाइल उपयोग करने वाले लोग साइबर अपराधों के ज्यादतर शिकार होते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कम से कम 44 प्रतिशत लोगों को अनजान नम्बरों से संदेश प्राप्त होते हैं जिसमें ध्वनि संदेश सुनने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करने या अनजान नम्बर डायल करने के लिए कहा जाता है।

साईमेंटेक की रिपोर्ट के अनुसार भारत में लगभग 70 प्रतिशत वयस्क इंटरनेट की सेवा के साथ मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं। साईमेंटेक सॉफ्टवेयर सोल्यूशन के राष्ट्रीय प्रबंधक रितेश चोपड़ा कहते हैं, "आज इस तरह के मेलवेयर, स्पाइवेयर और ट्रोजन बड़ी संख्या में मौद्रिक लाभ के प्रलोभन के साथ हम तक पहुंचाए जाते हैं।"

पढ़ें: फेसबुक में सबसे ज्‍यादा शेयर की जाने वाली कुछ तस्‍वीरें

उन्होंने साइबर अपराधों से बचने के उपाय अपनाने का आग्रह करते हुए कहा कि इस तरह के संदेशों के जरिए उपभोक्ता की निजी जानकारियां चुराई जाती हैं, जो आगे खतरा उत्पन्न कर सकती हैं। इन खतरों और अपराधों का शिकार होने से बचने के लिए लोगों के बीच जागरूकता लाना जरूरी है। इस साल अप्रैल माह से पायलट परियोजना के तहत नॉरटोन एन्टी वाइरस सॉफ्टवेयर बनाने वाली साईमेंटेक कम्पनी बड़े और छोटे शहरों के स्कूलों में जाकर छात्रों के बीच इस विषय पर जानकारियां देगी।

Please Wait while comments are loading...
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
Opinion Poll

Social Counting