अपने फोन को वॉयरस से कैसे रखें सुरक्षित ?

Written By:

गर्मियों का मौसम चल रहा है ऐसे में ढेरों बीमारियां होने का खतरा रहता है इन बीमारियों का कारण वॉयरस होते हैं जो हमारे शरीर में जाकर उसे कमजोर बना देते हैं। इसी तरह से मोबाइल फोन को बीमार करने के लिए इंटरनेट में ढेरों वॉयरस घात लगाए बैंठे रहते हैं जो मौका मिलते ही आपके स्‍मार्टफोन में घुस कर उसे बीमार बना देते हैं। अब आप सोंच रहे होंगे ये वॉयरस मोबाइल में जाकर क्‍या-क्‍या गड़बड़ी करते हैं।

पढ़ें: 5 जीबी का वीडियो 11 सेकेंड में होगा डाउनलोड, जानिए कैसे ?

अक्‍सर आपने देखा होगा कभी-कभी अचानक आपके स्‍मार्टफोन की स्‍पीड कम हो गई हो या फिर फोन बार-बार हैंग करने लगा हो या फिर अपने आप फोन का डेटा डिलीट होना शुरु हो गया है वहीं कुछ लोगों का फोन तो अपने आप रीस्‍टार्ट भी होने लगता है। वॉयरस के साथ कई ऐसे खतरनाक मालवेयर भी होते हैं जो चुपके से किसी सॉफ्टवेयर के साथ फोन में दाखिल हो जाते हैं और बाद में फोन के सॉफ्टवेयर में गड़बडि़यां करना शुरु कर देते हैं।

पढ़ें: सभी मोबाइलों पर मिल रहा है 20 प्रतिशत का डिस्‍काउंट साथ में और भी बहुत कुछ

इस मामले में एंड्रायड स्‍मार्टफोन की बात करें तो विंडो फोन और दूसरे प्‍लेटफार्म के मुकाबले इसमें वॉयरस और मालवेयर का खतरा ज्‍यादा रहता है क्‍योंकि दूसरे मोबाइल ओएस के मुकाबले ये ज्‍यादा प्रयोग किया जाता है। अब सबसे बड़ा सवाल उठता है इन वॉयरस और मालवेयर से अपने एंड्रायड फोन को कैसे बचाएं। आईए जानते हैं कुछ ऐसे आदतों के बारे में जिन्‍हें अपनाकर आप अपने अपने स्‍मार्टफोन को सुरक्षित रख सकते हैं।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Set a lock screen

सभी एंड्रायड फोन में स्‍क्रीन लॉक का फीचर होता है, जिसे हम में से कई लोग प्रयोग नहीं करते हैं भले ही ये आपके फोन को पूरी तरह सुरक्षित न रखे लेकिन किसी अंजाने व्‍यक्ति को फोन के अंदर दाखिल होने से रोकने में काफी कारगर होती है।

Install anti-malware programme

जैसे पीसी को सुरक्षित रखने के लिए हम उसमें एंटीवॉयरस और दूसरी सिक्‍योरिटी सॉफ्वेयर इंस्‍टॉल रखते हैं वैसे ही फोन को वॉयरस और मालवेयर से बचाने के लिए उसमें एंटी मॉलवेयर सॉफ्टवेयर इंस्‍टॉल करके रखें।

cache passwords

फोन में जहां तक हो पासवर्ड सेव न करें, भले ही फोन की लॉक स्‍क्रीन उसे कुछ समय के लिए सुरक्षित रखें लेकिन अगर एक बार किसी ने फोन को अनलॉक कर लिया तो वो आपके फोन में सेव सभी जरूरी पासवर्ड की मदद से आपके एकाउंट का गलत प्रयोग कर सकता है।

Root

सबसे पहले तो ये जानलीजिए फोन रूट करने का मतलब क्‍या होता है, मानलीजिए आपने कोई फोन खरीदा लेकिन उसके ओएस या फिर उसके सॉफ्टवेयर में आप कुछ बदलाव करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले फोन के सॉफ्टवेयर को रूट करना पड़ता है तो एक तरह से मोबाइल के बारे में थोड़ी जानकारी करने वाले लोग ही करते हैं। लेकिन ऐसी कई एप्‍लीकेशन मौजूद हैं जो फोन को आसानी से रूट कर सकती है, लेकिन इससे आपके फोन की सुरक्षा को खतरा रहता है साथ फोन की वारंटी भी चली जाती है। इतना ही नहीं रूट करने वाली कई एप्‍लीकेशनों की मदद से फोन में खतरनाक वॉयरस भी आ जाते हैं।

Install apps from trusted sources

एंड्रायड स्‍मार्टफोन में ज्‍यादातर वॉयरस एप्‍लीकेशनों की मदद से दाखिल होते हैं, अगर आप गूगल प्‍ले के अलावा कहीं और से एंड्रायड एप्‍लीकेशन इंस्‍टॉल कर रहे हैं तो थोड़ा जांच परख कर करिए क्‍योंकि बाहर से एप्‍लीकेशन इंस्‍टॉल करने वॉयरस का रिस्‍क ज्‍यादा रहता है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
Opinion Poll

Social Counting