गूगल बंद करने जा रहा है कि 'जीमेल इनबॉक्स'

    सर्च इंजन गूगल ने 2019 तक अपने अल्टरनेट मेलिंग ऐप इनबॉक्स को बंद करने का फैसला किया है। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में इस बात की जानकारी दी है। कंपनी ने यूजर्स को अपने जीमेल ऐप पर शिफ्ट करने का मौका दिया है।

    जीमेल के प्रॉडक्ट मैनेजर मैथ्यू इजाट्ट ने कहा कि हम बेस्ट ईमेल एक्स्पीरियंस देने पर ज्यादा फोकस करना चाहते हैं। जिसके लिए हमें मेलिंग ऐप इनबॉक्स बंद करना होगा। आगे कहा कि हम जल्‍द ही अप्रैल तक नया जीमेल लेकर आएंगे। जिसमें कई सारे सेम फीचर्स के साथ नई चीजें भी जुड़ी होंगी जो कि यूजर्स को पसंद आएंगी। इसमें आप इनबॉक्स प्‍लस और स्मार्ट कंपोज़ का इस्‍तेमाल कर सकेंगे जोकि आपको तेजी से ईमेल ड्राफ्ट करने में मदद करेंगे।

    गूगल बंद करने जा रहा है कि 'जीमेल इनबॉक्स'

    कंपनी ने यह भी घोषणा की है कि यह वैश्विक रिच कम्युनिकेशन सर्विसेज (आरसीएस) कवरेज और इंटरऑपरेबिलिटी के प्रति उद्योग पहल को तेज करने के लिए एक उन्नत स्मार्टफोन मैसेजिंग अनुभव प्रदान करने के लिए सैमसंग के साथ काम कर रहा है। यह सहयोग सुनिश्चित करेगा कि एंड्रॉइड मैसेज और सैमसंग मैसेज आरसीएस मैसेजिंग के साथ काम करेंगे।

    पढ़ें: Jio Phone में कैसे करें गूगल मैप और जीपीएस का इस्तेमाल

    वाईफाई पर चैट करने की क्षमता, चैट ग्रुप बनाने, टाइपिंग इंडिकेशन, read receipts, हाई -रिज़ॉल्यूशन वाली फ़ोटो और वीडियो इस प्लेटफार्म पर साझा कर सकेंगे। Google और सैमसंग दोनों यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके मैसेजिंग क्लाइंट, एंड्रॉइड मैसेजिस और सैमसंग मैसेजिस क्लाउड और बिजनेस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म समेत प्रत्येक कंपनी की आरसीएस तकनीक के साथ सहजता से काम करें।

    Read more about:
    English summary
    The Inbox by Google email service will be shut down in six months after four years. This was inevitable as the company decided to re haul Gmail after mirroring many of the features that were initially tested on Inbox.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more