भारत एशिया का तीसरा सर्वाधिक मालवेयर हमले झेलने वाला देश

By Rahul
|

एक ताजा अध्ययन में कहा गया है कि मालवेयर हमलों के मामले में भारत एशिया का तीसरा सर्वाधिक जोखम वाला देश है। अध्ययन में कहा गया है कि 'इंटरनेट ऑफ थिंग्स' (आईओटी) उद्योग में वृद्धि के साथ इस तरह के मालवेयर हमलों का जोखिम भी बढ़ेगा।

भारत एशिया का तीसरा सर्वाधिक मालवेयर हमले झेलने वाला देश

 

अमेरिकी सॉफ्टवेयर सिक्योरिटी कंपनी 'सिमेंटेक कॉर्पोरेशन' द्वारा 2016 के लिए तैयार सुरक्षा भविष्यवाणी में कहा गया है कि भारत में 60,000 मालवेयर हमले प्रति वर्ष या 170 मालवेयर हमले प्रति दिन होते हैं।

उल्लेखनीय है कि मालवेयर हमले ऐसे वायरस हमले हैं जो पीड़ित को अपने उपकरण का इस्तेमाल करने में परेशानी खड़ी करते हैं। इस तरह के मालवेयर हमले कर पीड़ित को ऑनलाइन पेमेंट के जरिए फिरौती अदा करने पर भी मजबूर किया जाता है।

सिमेंटेक की रिपोर्ट 'इंटरनेट सिक्योरिटी थ्रेट रिपोर्ट' (आईएसटीआर) में कहा गया है कि भारत में इस तरह के मालवेयर हमलों की शुरुआत 2013 में कानून प्रवर्तन से संबंधित ईमेल के जरिए हुई, जो अब क्रिप्टो मालवेयर का रूप ले चुके हैं।

सिमेंटेक के अनुसार, भारत में होने वाले मालवेयर हमलों में 86 फीसदी हमले क्रिप्टो मालवेयर के रूप में होते हैं। क्रिप्टो मालवेयर ऐसे मालवेयर होते हैं जो किसी सिस्टम की फाइलें कूट भाषा में लॉक कर देते हैं और फिरौती की रकम मिलने के बाद ही अनलॉक किए जा सकते हैं।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

Read more about:

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X