सरकार ने लिया बड़ा फैसला, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के लिए Type-C चार्जर को सहमति

|
 भारत में हर तरह के गैजेट्स के लिए एक चार्जर नियम लागू

अगर आप स्मार्टफोन, लैपटॉप और टेबलेट को चार्ज करने के लिए परेशान होते हैं तो तो अब आपको इससे छुटकारा मिलने वाला है।उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने बुधवार को कहा कि भारत स्मार्ट उपकरणों के लिए एक सामान्य चार्जिंग पोर्ट के रूप में यूएसबी-सी को अपना लिया गया है।

 

यह फैसला बुधवार को केंद्रीय अंतर-मंत्रालयी कार्यबल की बैठक में लिया गया। स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के लिए चार्जिंग पोर्ट के रूप में यूएसबी टाइप-सी को अपनाने पर हितधारकों के साथ बैठक हुई।

क्या होगा इसका फायदा

सरकार ने सभी स्मार्ट गैजेट्स के लिए चार्जिंग पोर्ट को मानकीकृत करने के लिए व्यापक विचार-विमर्श किया, लेकिन कम लागत वाले फीचर फोन के लिए चार्जर पर निर्णय लेना अभी बाकी है। यूनिवर्सल चार्जर के साथ उपभोक्ताओं को अब हर बार नया डिवाइस खरीदने पर अलग चार्जर की जरूरत नहीं होगी। इसके अलावा, इस कदम से भारी मात्रा में ई-कचरा भी कम होगा। भारत में इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट प्रबंधन, ASSOCHAM-EY की रिपोर्ट के अनुसार, 2021 में, भारत ने केवल चीन और अमेरिका के बाद 5 मिलियन टन ई-कचरा उत्पन्न होने का अनुमान लगाया है।

फीचर फोन के लिए अलग विकल्प

केंद्र का विचार है कि भारत को दो प्रकार के मानक चार्जिंग उपकरणों में स्थानांतरित करना चाहिए, एक स्मार्ट फोन और पोर्टेबल डिवाइस जैसे लैपटॉप और टैबलेट के लिए, और दूसरा फीचर फोन के लिए, जिनकी बाजार में बड़ी हिस्सेदारी है। यूनिवर्सल चार्जर्स की नीति के साथ, अधिकारियों को उम्मीद है कि फोन निर्माता प्रोडक्ट पैकेजिंग में चार्जर की लागत में कटौती करेंगे, क्योंकि अधिकांश उपभोक्ताओं के पास आवश्यक चार्जर और चार्जिंग एक्सेसरीज़ होंगे।

 

पिछले महीने EU ने लागू किया था नियम

पिछले महीने, यूरोपीय संघ ने मोबाइल फोन, टैबलेट और हेडफ़ोन सहित इलेक्ट्रॉनिक गैजेट की एक पूरी सीरीज के लिए 2024 से USB-C पोर्ट के उपयोग को अनिवार्य कर दिया था। भारत उपभोक्ताओं की आसानी के लिए इस तरह के कदम को अपनाने वाले पहले देशों में से एक है। भारत में सफल कार्यान्वयन और अपनाने के साथ, यूजर को अब नए गैजेट्स के लिए अलग-अलग चार्जर नहीं खरीदने होंगे।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
Mobile device makers and associations representing technology companies in India have agreed to adopt USB Type-C as the standard charging port for electronic products

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X