अब Amazon, Flipkart जैसी ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर नहीं मिलेगा फेक रिव्यु, सरकार उठाने जा रही बड़ा कदम

|
Amazon, Flipkart जैसी ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर नहीं मिलेगा फेक रिव्यु

फ्लिपकार्ट, अमेज़न और अन्य ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर फेक रिव्यु जल्द ही खत्म हो सकती है। कई बार, यह देखा गया है कि ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर कुछ प्रोडक्ट में अक्सर नकली रिव्यु होती हैं, जो उन्हें बढ़ावा देने या डिमोट करने के लिए की जा सकती हैं। यह उन खरीदारों के लिए भ्रामक हो सकता है जो ऐसी नकली रिव्यु देखकर प्रोडक्ट को खरीदते हैं।

 

इसे आगे होने से रोकने के लिए, सरकार ने नकली रिव्यु और असत्यापित रेटिंग के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है। सरकार ने उन कंपनियों के लिए एक रूपरेखा का मसौदा तैयार किया है जो प्रोडक्ट और सेवाओं को मान्य करने के लिए कस्टमर रिव्यु पर निर्भर करती हैं। कंपनियों की श्रेणी में Google, मेटा, इंस्टाग्राम, अमेज़ॅन, ट्रैवल वेबसाइट और फूड डिलीवरी ऐप शामिल हैं।

फेक रिव्यु से जल्द मिलेगा छुटकारा

भारत सरकार ने ऑनलाइन प्रोडक्ट की फेक रिव्यु को रोकने के लिए विभिन्न उद्योगों में कई कंपनियों के लिए एक रूपरेखा का मसौदा तैयार किया है। इस कदम का उद्देश्य भारत में उपभोक्ताओं के लिए ऑनलाइन बातचीत और ई-कॉमर्स को अधिक प्रामाणिक और कम भ्रामक बनाना है। रॉयटर्स ने उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के हवाले से बताया कि उपभोक्ता मामलों के विभाग ने ई-कॉमर्स में नकली और झूठा रिव्यु की जांच के लिए एक रूपरेखा विकसित करने के लिए जून में एक समिति का गठन किया था।

मेटा और गूगल भी इस लिस्ट में शामिल

रिपोर्ट में आगे पता चला है कि मेटा और गूगल जैसे प्लेटफार्मों को इन नियमों का पालन करना होगा। मसौदा प्रस्ताव का पूरा विवरण अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है। उपभोक्ता मामलों के विभाग के सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि सरकार इन दिशानिर्देशों का स्वैच्छिक अनुपालन करेगी। और अगर खतरा बढ़ता रहता है, तो सरकार फेक रिव्यु को रोकने के लिए कंपनियों के लिए नए दिशानिर्देशों का पालन करना अनिवार्य कर सकती है।

 

फेक रिव्यु मिलने पर कंपनी को देना होगा जवाब

ऑनलाइन कंपनियों ने रॉयटर्स को बताया कि फेक रिव्यु से निपटने के लिए उनके पास आंतरिक जांच है, लेकिन वर्तमान में, ऐसा करने में विफलता अनुपालन उल्लंघन नहीं है। यदि दिशानिर्देश अनिवार्य हो जाते हैं, तो कंपनियों को अनुचित व्यापार प्रथाओं के लिए कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें वेबसाइटों और ऐप्स पर फेक रिव्यु पाए जानें के बाद कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
The Indian government has drafted a framework for several companies across different industries to stop fake reviews of products online.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X