भारतीय रेलवे ने ट्रेन की आवाजाही के समय को ट्रैक करने के लिए रीयल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम किया लागू

|

भारतीय रेलवे एक रीयल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) स्थापित कर रहा है, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के सहयोग से बनाया गया है। रेल मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, भारतीय रेलवे ने 2700 ट्रेन इंजनों में रीयल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम डिवाइस लगाए हैं। RTIS एक ऐसी तकनीक है जो ट्रेनों के चलने की स्थिति से संबंधित डेटा प्रदान करती है।

 
ट्रेन की आवाजाही होगी ट्रैक, रीयल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम लागू

"इसरो के सहयोग से विकसित रीयल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) को स्टेशनों पर ट्रेन की आवाजाही के समय के स्वचालित अधिग्रहण के लिए इंजनों पर लगाया जाएगा।
मौजूदा समय में लगे डिवाइस से सैटेलाइट फीड कंट्रोल ऑफिस एप्लिकेशन तक पहुंचती है, जिससे ट्रेनों की रियल टाइम की जानकारी मिलती है। दूसरे चरण के रोल आउट में, इसरो के सैटकॉम हब का उपयोग करके 50 लोको शेड में 6,000 और इंजनों को कवर किया जाएगा।

RTIS technology के जरिए ट्रेनों के नियंत्रण की गति को अधिक आसानी से निगरानी कर सकता है। इसके लिए किसी व्यक्ति को निगरानी के लिए रखने जरूरत नहीं है। इस तकनीक की मदद से यात्रियों को रियल टाइम जानकारी देने के अलावा ट्रेनों का रिजर्वेशन चार्ट अपने आप तैयार हो जाता है। वहीं मंत्रालय ने कहा कि आरटीआईएस 30 सेकेंड की अवधि के साथ मिड-सेक्शन अपडेट देगा।

मंत्रालय ने कहा वर्तमान में, लगभग 6,500 लोकोमोटिव (RTIS और REMMLOT) से GPS फीड सीधे कंट्रोल ऑफिस एप्लिकेशन (COA) में फीड की जा रही है। इसने सीओए और एनटीईएस के माध्यम से ट्रेनों की स्वचालित चार्टिंग और यात्रियों को वास्तविक समय की सूचना देना शामिल किया गया है,"

IRCTC के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा इस बीच, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRCTC) के नए लॉन्च किए गए चैटबॉट को बीटा लॉन्च के दौरान ट्रेन यात्रियों से उल्लेखनीय प्रतिक्रिया मिल रही है क्योंकि 1 अरब से अधिक लोगों ने इसका इस्तेमाल किया है।

ANI से बात करते हुए, अधिकारी ने कहा कि रेलवे टिकट बुक करने के लिए नई सुविधा ग्राहकों को दे रही है, जिसमें वॉयस, चैट और क्लिक-आधारित सिस्टम के माध्यम से सिस्टम के साथ बातचीत करने में सक्षम बनाती है। इसके अतिरिक्त, सिस्टम को किसी पासवर्ड की आवश्यकता नहीं है और यह वन टाइम पासवर्ड (OTP) पर आधारित है।

 
ट्रेन की आवाजाही होगी ट्रैक, रीयल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम लागू

AI प्लेटफॉर्म को 1 बिलियन से अधिक यूजर्स ने किया प्रयोग

अधिकारी ने यह भी बताया कि टेक्नोलॉजी CoRover द्वारा संचालित है, एक संवादी AI प्लेटफॉर्म जिसका उपयोग 1 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता कर रहे हैं।

"यूजर्स के अनुभव को बढ़ाने के लिए हम निरंतर प्रयास कर रहें हैं, इन नए टेक्नोलॉजी का लाभ उठाते हुए, हम आज एक बड़ी छलांग लगा रहे हैं। अब, यात्री हमारे AI Virtual Assistant, ask direction 2.0, CoRover का लाभ उठाते हुए, बातचीत के तरीके से अपनी ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं। conversational AI platform का उपयोग 1 बिलियन से अधिक यूजर्स करते हैं।"

Better Virtual Assistant, AskDisha 2.0 में टिकट होगा बुक

Better Virtual Assistant, AskDisha 2.0 में टिकट बुक करना, पीएनआर स्थिति की जांच करना, टिकट रद्द करना, बोर्डिंग स्टेशन बदलना, रीफंड की स्थिति की जांच करना और तत्काल समय जैसे प्रश्नों का उत्तर देना जैसी कई विशेषताएं हैं। वहीं अधिकारी ने आगे बताया कि यात्रियों के अनुभव को बढ़ाने की दिशा में यह एक ऐतिहासिक कदम है।

"पहली बार, उपयोगकर्ता अपने आईआरसीटीसी पासवर्ड को जाने बिना टिकट बुक कर सकते हैं, यह सिर्फ एक ओटीपी के साथ संभव होगा। AskDisha 2.0 भी एक बहुत प्रभावी साधन और वॉयस बुकिंग यात्रियों के लिए इसे और भी आसान बना देगा।

वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी अनुमान लगाया कि भविष्य में कम से कम 25 प्रतिशत ग्राहक इस विकल्प पर स्विच करेंगे। आईआरसीटीसी के चैटबॉट AskDISHA 2.0 के नए अवतार का उद्देश्य यूजर्स द्वारा पूछे गए प्रश्नों का सही उत्तर देने में मदद करता है। अधिकारी ने कहा कि यह न केवल समय की बचत करेगा बल्कि यूजर्स के अनुभव को बढ़ाएगा।

 
Best Mobiles in India

English summary
The control speed of trains can be monitored more easily through RTIS technology. There is no need to keep a person under observation for this. With the help of this technology, apart from giving real time information to the passengers, the reservation chart of trains is prepared automatically.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X