10 प्रतिशत की तेजी से बढ़ा है सॉफ्टवेयर बाजार : आईडीसी

Written By:

    भारतीय सॉफ्टवेयर बाजार की विकास दर वर्ष 2014 की दूसरी छमाही में साल-दर-साल के आधार पर 10 फीसद रही। आईडीसी ने गुरुवार को कहा, "भारतीय सॉफ्टवेयर बाजार की विकास दर साल-दर-साल आधार पर 10 फीसदी बरकरार रही। 2016 में और उसके बाद हालांकि बाजार में और गति आने की उम्मीद है, क्योंकि कुछ सौदों का कार्यान्वयन शुरू हो जाएगा।"

    10 प्रतिशत की तेजी से बढ़ा है सॉफ्टवेयर बाजार : आईडीसी

    उसने कहा कि इस स्थिर विकास का एक कारण यह भी है कि इस दौरान सैप, माइक्रोसॉफ्ट, ऑरेकल जैसी कंपनियों की विकास दर दहाई अंकों में रही। आईडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस क्षेत्र में सरकार और विनिर्माण तथा रिटेल कंपनियां और अधिक निवेश करेंगी।

    भारतीय आईटी सॉफ्टवेयर बाजार को तीन प्रमुख क्षेत्रों में विभक्त किया जाता है, जिसमें शामिल हैं एप्लीकेशन डेवलपमेंट डिप्लॉयमेंट (एडीएंडडी), एप्लीकेशन और सिस्टम इंफ्रास्ट्रक्चर सॉफ्टवेयर (एसआईएस)। आलोच्य अवधि में एडीएंडडी बाजार की विकास दर 9.5 फीसदी, एप्लीकेशन बाजार की विकास दर 10.8 फीसदी और एसआईएस बाजार की विकास दर 8.5 फीसदी रही।

    10 प्रतिशत की तेजी से बढ़ा है सॉफ्टवेयर बाजार : आईडीसी

    इस दौरान एप्लीकेशन प्लेटफॉर्म, कंटेंट, ऑपरेशन एवं विनिर्माण एप्लीकेशन, इंटीग्रेशन एवं ऑर्केस्ट्रेशन मिड्लवेयर जैसे क्षेत्रों में भी बेहतर विकास दर रही। आईडीसी इंडिया ने कहा कि बाजार में हुए कुल विकास में 60 फीसदी योगदान माइक्रोसॉफ्ट, ऑरेकल, सैप, आईबीएम और सिनोप्सिस का रहा। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले पांच साल में सॉफ्टवेयर बाजार 10.6 फीसदीकी सालाना चक्रवृद्धि दर से विकास करेगा।

    Read more about:
    English summary
    The Indian software market registered a stable year-on-year growth of 10 percent in the second half of 2014 owing to the steady double-digit growth of top vendors, according to the International Data Corporation (IDC).
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more