इन अविष्‍कारों की वजह से आज हम जी रहे हैं खुशहाल जिंदगी

Posted By:

दुनिया में रोज नए अविष्‍कार होते रहते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही ऐसे होते हैं जो हमारी जिंदगी में बड़ा बदलाव कर पाते हैं। अगर हम ज्‍यादा दूर न जाकर आज से 30 या फिर 40 साल पहले की बात करें तो उस समय मोबाइल और कंप्‍यूटर का प्रयोग करना सभी के बस की बात नहीं थी लेकिन आज मोबाइल तो जैसे सब्‍जियों की तरह मार्केट में मिल रहे हैं और पीसी के कई विकल्‍प जैसे टैबलेट, नोटबुक, टच स्‍क्रीन लैपटॉप मार्केट में मिल रहे है।

इन सभी चीजों ने हमारी जिंदगी जीने के तरीके को काफी आसान बना दिया है। हम आपको आज कुछ ऐसे ही अविष्‍कारों के बारे में बताएंगे जिनकी वजह से हमारी जिंदगी में काफी बदलाव हुए।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Solar cells – 1883

1839 में सबसे पहले चार्ल फर्टिस ने सोलर सेल का डिमांस्‍ट्रेशन किया था, लेकिन 1883 में पहली बार सोलर सेल आम जनता के सामने पेश किया गया था।

Vending machine

आज हम जिस मशीन में पैसे डालकर गर्म कॉफी और कोल्‍डड्रिंक बड़े आराम से निकाल लेते हैं इस मशीन को बनाने का पूरा श्रेय एलेगजेंड्रिया को जाता है। खासकर जापान में तो वेडिंग मशीन काफी पॉपुलर हैं।

Military mind control

भविष्‍य में आने वाले सेनिक आम सैनिको से अलग होंगे। अरिजोना स्‍टेट यूनीवर्सिटी के रिसर्चर एक ऐसा मिलिट्री हेलमेट बनाने में लगे हुए हैं जो दिमाग तेजी से एलर्ट रखेंगे ये दिमाग में महीन से महीन साउंड वेव भी बड़े आराम से भेज सकेंगे।

Mercedes Biome

इंजीनियर एक ऐसा कॉम्‍पैक्‍ट कार बनाने में लगे हुए हैं जिसमें चार लोग आराम से सफर कर सकें। इस कार की सबसे खास बात होंगी इसका भार, इसे बायोफाइबर से बनाया जाएगा जिसका वजन 397 किलोग्राम के करीब होगा।

Contact lenses – 1632

रेने डेस्कार्ट्स ने 1636 में कांटेक्‍ट लेंस का एक कांसेप्‍ट प्रस्‍तुत किया था जिसमें उन्‍होंने द्रव से भरी एक टेस्ट ट्यूब को कोर्निया के सीधे संपर्क में रखा जाता है, लेकिन ये सिर्फ एक कांसेप्‍ट था। 1999 में सिलिकोन हाइड्रोजेलों के लैंसों का प्रयोग प्रारंभ हुआ जिन्‍हें रात भर तक पहना जा सकता था इसके बाद जापान की मेनिकॉन कम्पनी के क्योइची तनाका द्वारा 1979 में पहले कांटेक्‍ट लेंस का पेटेंट किया गया


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Read more about:
Please Wait while comments are loading...
नृत्य करती महिला को पीएम की मां बताकर फंसी किरण बेदी, बाद में दी सफाई
नृत्य करती महिला को पीएम की मां बताकर फंसी किरण बेदी, बाद में दी सफाई
Chhath Pooja 2017: जानिए छठ पूजा के बारे में ये खास बातें...
Chhath Pooja 2017: जानिए छठ पूजा के बारे में ये खास बातें...
Opinion Poll

Social Counting