जियो : तिकोना एयरटेल सौदे से सरकार को होगा 217 करोड़ का नुकसान

By Neha
|

टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो और जियो के बीच विवाद नया नहीं है। हाल ही में जियो ने आरोप लगाया है कि प्रस्तावित तिकोना-एयरटेल सौदे से सरकार को 217 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

 

मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो के मुताबिक, अगर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के पास मौजूद स्पेक्ट्रम का यूज वॉयस कॉल के लिए किया जाएगा तो, इससे सरकार को करीब 217 करोड़ का घाटा होगा।

जियो ने की मांग भुगतान के बाद ही सरकार दे मंजूरी

जियो इसके चलते टेलिकॉम डिपार्टमेंट तक भी पहुंच चुका है और कंपनी की मांग है कि वह इस अधिग्रहण सौदे को तब ही मंजूरी दे, जब एयरटेल ब्रॉडबैंड स्पेक्ट्रम को आईएसपी लाइसेंस से यूनिफाइड लाइसेंस में बदलने के लिए भुगतान कर दे।

इसके अलावा जियो ने अपने तीन पेज के शिकायत पत्र में ये भी मांग की है कि उसे 1,658 करोड़ रुपए का वह शुल्क लौटाया जाए, उसने 2013 में अपने ब्रॉडबैंड स्पेक्ट्रम को यूनिफाइड लाइसेंस में बदलने के लिए किया था।

जियो ने की मांग भुगतान के बाद ही सरकार दे मंजूरी

बता दें कि एयरटेल ने मार्च महीने में ही देश की सबसे बड़ी कंपनी एयरटेल ने तिकोना (Tikona) डिजिटल नेटवर्क के 4G बिजनेस को खरीदने की घोषणा की थी, जिसमें भारती एयरटेल तिकोना का ब्रॉडबैंड वायरलेस एसेस स्‍पेक्‍ट्रम और पांच टेलीकॉम सर्किल में 350 साइट का अधिग्रहण शामिल होगा।

 
 
Best Mobiles in India

English summary
the new issue between reliance jio and airtel is in news according to jio Tikona-Airtel deal can affect government revenue and jio sent a complaint letter against this.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X