JioPhone 2 या Nokia 8110 4G, कौनसा फीचर फोन है बेहतर...?

    रिलायंस जियो ने भारतीय बाजार में अपने नाम का झंडा फैला दिया है। इसी के साथ ही रिलायंस जियो ने अपना जियो फोन भी लॉन्च किया। जो काफी कम समय में मशहूर हो गया। देश में काफी लोग जियो फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। जियो फोन इस साल का सबसे लोकप्रिय फोन बन गया है। फोन की कीमत और फीचर ही इसे यूजर्स के बीच लोकप्रिय बना रही है। जियोफोन काफी फायदेमंद डील में से एक है। यह फोन उन लोगों के लिए काफी अच्छा है जो अपने स्मार्टफोन के साथ एक और फोन का इस्तेमाल करते हैं।

    JioPhone 2 या Nokia 8110 4G, कौनसा फीचर फोन है बेहतर...?

     

    डिवाइस ने रिलायंस जियो को लाखों नए ग्राहकों को इकट्ठा करने में भी मदद की। जियोफोन 2 को लॉन्च करने के बाद फोन ने देश की जनता के बीच काफी अच्छा प्रर्दशन किया है। हालांकि जियोफोन 2 के लिए बाजार की स्थिति एक दिलचस्प मोड़ ले सकती है क्योंकि एचएमडी ग्लोबल ने भारत में Nokia 8110 4G 'बनाना' फोन लॉन्च किया है। जो लगभग जियोफोन 2 के समान सुविधाएं और स्पेसिफिकेशन प्रदान करने का दावा कर रही है। जिससे जियोफोन के लिए एक चुनौती का सामना करना पड़ सकता है। इसी के साथ हम आपको कुछ ऐसे कारणों के बारें में बताएंगे जिससे रिलायंस जियोफोन 2 किसी भी फीचर फोन ग्राहक के लिए बेहतर विकल्प क्यों हो सकता है।

    जियोफोन 2 बनाम Nokia 8110 4G: कीपैड

    कीपैड एक ऐसी चीज़ है जो जियोफोन 2 को Nokia 8110 4G से बेहतर फीचर फोन बनाता है। हमें यह बात ध्यान मे रखनी होगी कि जियो फोन 2 का प्राइज टैग Nokia 8110 4G से आधा है। जो इसे बेहतर ऑपशन बनाता है। केओओएस पर हालिया अपडेट फेसबुक, व्हाट्सएप और यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया ऐप्स चलाने के लिए Nokia 8110 4G और जियोफोन 2 जैसे फीचर फोन पर सॉफ़्टवेयर की अनुमति देता है। जो यूजर्स के लिए काफी फायदेमंद है। हालांकि इन फोन्स में सोशल मीडिया ऐप्स का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को काफी टाइप करने की जरूरत पड़ती है। इस मामले में जियोफोन 2 फोन Nokia 8110 4G फोन की पीछे छोड़ता है। जिसका पूरा श्रेय QWERTY keypad को जाता है।

     

    बैटरी

    कोई भी फोन लेते समय हमारे दिमाग में फोन का बैटरी बैकअप जैसी चीज़ भी काफी जरूरी है। इस मामले में भी जियोफोन 2 Nokia 8110 4G फोन को पीछे छोड़ता है। बता दें, जियोफोन 2 में यूजर्स को 2000 एमएएच की बैटरी दी जा रही है। जो Nokia 8110 4G फोन में मिलने वाली 1500 एमएएच बैटरी से ज्यादा है। अगर फोन में बैटरी लाइफ और स्टेमिना की बात आती है तो जियोफोन 2 बेहतर प्रदर्शन देता है।

    हार्डवेयर

    दोनों फोन की तुलना की जाए तो फोन का प्रोसेसर एकमात्र ऐसा क्षेत्र है। जहां Nokia 8110 4G फोन जियोफोन 2 को पीछे छोड़ सकता है। बता दें, Nokia 8110 4G स्नैपड्रैगन 205 एसओसी के साथ आता है। जबकि जियोफोन 2 केवल स्प्रेडट्रम 9820 प्रोसेसर से लैस है। दोनों डिवाइस में रैम 512 एमबी दिया गया है जो 4 जीबी स्टोरेज के साथ आता है। हालांकि रिलायंस जियोफोन 2 ने Nokia 8110 4G पर फिर से बढ़त हासिल की है क्योंकि यह 128 जीबी माइक्रोएसडी कार्ड का इस्तेमाल करके इंटरनल स्टोरेज को बढ़ाने की अनुमति देता है। जबकि Nokia 8110 4G में केवल 32 जीबी कैप को बढ़ाया जा सकता है।

    English summary
    Market conditions for Geophone 2 can take an interesting turn because HMD Global has launched Nokia 8110 4G 'Creating' phone in India. Which is almost claiming to provide facilities and specifications similar to Geophon 2. There could be a challenge for Geophon. Let's tell you the difference between these two phones.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more