Subscribe to Gizbot

मंगलयान की डिज़ाइन बनाएंगे केरल के छात्र

Written By:

केरल में टॉक-एच इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (टीआईएसटी ) के इंजीनियरिंग के छात्रों की एक टीम मंगल मिशन के लिए रोवर डिजाइन करने की प्रतियोगिता में भाग ले रही है। अगर इस प्रतियोगिता में टीम का चयन हो जाता है तो निकट भविष्य में अमेरिका के मार्स एक्सप्लोरेशन मिशन में इस टीम के द्वारा बनाया गया रोवर भी शामिल होगा। ऐसा पहली बार हो रहा है कि केरल में एक इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों को अगली पीढ़ी के मंगलयान का डिजाइन और निर्माण करने के लिए अमेरिका में युनिवर्सिटी रोवर चैलेंज (यूआरसी) में प्रतियोगिता के लिए चयन किया गया है।

पढ़ें: दुनिया की सबसे बड़ी टीवी है बिग हॉस

यूआरसी 2014 के अलावा, यहां नजदीक में स्थित अराक्कुनम में टीआईएसटी से पांच सदस्यीय टीम अमेरिका में प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय वैमानिकी प्रतियोगिता 'कैनसैट' में भी दुनिया भर के छात्रों के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी। कैनसैट का उद्देश्य एक वास्तविक उपग्रह के कार्यो की नकल करना है, और इस तरह यह इंजीनियरिंग के विभिन्न क्षेत्रों का एक समन्वय है।

कैनसैट प्रतियोगिता जून में टेक्सास में आयोजित की जाएगी, वहीं यूआरसी मई 2014 में दक्षिणी उटा के दूरदराज के बंजर रेगिस्तान में मंगल ग्रह डेजर्ट रिसर्च स्टेशन (एमडीआरएस) में आयोजित की जाएगी। यूआरसी कॉलेज के छात्रों के लिए विश्व की प्रमुख रोबोटिक्स प्रतियोगिता है। टीआईएसटी यूआरसी का प्रतिनिधित्व करने वाले छह देशों -अमेरिका, भारत, मिस्र, पोलैंड, कनाडा और बांग्लादेश- की 31 विश्वविद्यालय टीमों में से है और यह टीम येल युनिवर्सिटी, कॉर्नेल युनिवर्सिटी और वारसॉ युनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी सहित प्रतिष्ठित संस्थानों के छात्रों के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी।

पढ़ें: आ गया सेलफी खींचने का नया ट्रेंड

टीआईएसटी की टीम को कैनसैट के लिए लगातार दूसरे वर्ष के लिए चयन किया गया है, जिसे नासा, नैवेल रिसर्च लैबोरेट्री (अमरीका), बॉल एयरोस्पेस एंड टेक्नोलॉजी कॉर्प और प्रैक्सिस इंक के साथ अमेरिकन एस्ट्रोनॉटिकल सोसायटी (एएएस) और अमेरिकन इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स (एआईएए) के द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

पढ़ें: देखिए सेलिब्रेटियों द्वारा किए गए सबसे पहले ट्विट

मंगलयान की डिज़ाइन बनाएंगे केरल के छात्र

ये प्रतियोगिताएं अंतरिक्ष से संबंधित प्रणालियों की अवधारणा का विकास और निर्माण करने वाले दुनिया भर में विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के प्रतिभाशाली छात्रों के लिए इसका प्रदर्शन करने के लिए सबसे प्रतिष्ठित मंच हैं। टीआईएसटी टीम दोनों प्रतियोगिताओं के लिए चयनित होनी वाली केरल की पहली टीम है।

टीआईएसटी के निदेशक डॉ. वी. जॉब कुरूविला ने कहा, "हमें खुशी हो रही है कि हमारे छात्रों को दूसरी बार प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए चयनित किया गया है। हमारा कॉलेज उस प्रतियोगिता में भाग लेने वाला केरल का एकमात्र कॉलेज है। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाली टीम में पांच सदस्य शमिल हैं जिन्हें क्रोनोस नाम दिया गया है। टीम प्रतिस्पर्धा में अपने शैक्षिक, तकनीकी और प्रबंधकीय कौशल का प्रदर्शन करेगी।

पढ़ें: देखिए सेलिब्रेटियों द्वारा किए गए सबसे पहले ट्विट

वास्तव में, टीआईएसटी ने छात्रों में नवीन प्रतिभाओं को बढ़ावा देने और छात्रों के बीच उद्यमशीलता को विकसित करने के लिए एक नवाचार और उद्यमिता विकास केन्द्र (आईईडीसी) की स्थापना की है। क्रोनोस के पांच सदस्यीय टीम में मोहम्मद जुहैम इबनु अब्दुल जब्बार, पी.वी. अभिमन्यु नायर, जिबिन जोस, अनूप नायक और जोसेफ स्टीफन शामिल हैं। टीम के संकाय सलाहकार किरण जॉर्ज वर्गीज और शाजन के. थॉमस हैं।

कांग्रेस के करीब आ रहे हैं  बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन!
कांग्रेस के करीब आ रहे हैं बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन!
भाजपा के सत्ता में आने के बाद रामदेव को जमीन खरीद में पहुंचाया गया 300 करोड़ का फायदा: रायटर्स
भाजपा के सत्ता में आने के बाद रामदेव को जमीन खरीद में पहुंचाया गया 300 करोड़ का फायदा: रायटर्स
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot