लिनोवो ने कहा अमेज़न, फ्लिपकार्ट और स्‍नैपडील नहीं है हमारे अधिकृत विक्रेता

Posted By:

चाइनीज़ स्‍मार्टफोन मेकर लिनोवो ने उपभोक्‍ताओं को एडवाइस देते हुए कहा है ऑनलाइन ई कामर्स साइट फ्लिपकार्ट, अमेज़न और स्‍नैपडील हमारे अधिकृत विक्रेता नहीं हैं। लिनोवो इंडिया स्‍मार्टफोन के डायरेक्‍टर सुधिन माथुर का कहना है पिछले कुछ महिनों से इन साइटों में काफी कम दामों में लिनोवो के स्‍मार्टफोन मिल रहे हैं लिनोवो का कहना है एमआरपी से इतने कम दामों को देखकर इस बात पर भरोसा करना मुश्‍किल है कि इनमें ओरीजनल पार्ट हैं या नहीं।

पढ़ें: वाट्स ऐप नहीं तो क्‍या हुआ ये 5 फ्री चैट सर्विस है न

कंपनी ने अपने अधिकृत विक्रेताओ की एक लिस्‍ट भी जारी की है जिसमें कंपनी के उन विक्रेताओं के नाम दिए गए हैं जिनके साथ कंपनी ने अनुबंध किया है। वहीं इस बारे में स्‍नैपडील का कहना है हमारी साइट में केवल वहीं प्रोडेक्‍ट बेचें जाते हैं जिनके साथ कंपनी से बातचीत होती है, उपभोक्‍ता इस बात को लेकर पूरी तरह से निश्‍चिंत रहें, साइट में उन्‍हें ओरीज़ल प्रोडेक्‍ट कंपनी की वारंटी और गारंटी के साथ ही मिलेंगे। दूसरी ई कार्मस साइट अमेंज़न के अनुसार साइट में सभी प्रोडेक्‍ट कंपनी की मैन्‍यूफैक्‍चर वारंटी के साथ दिए गए है फिर वो चाहे कोई भी प्रोडेक्‍ट क्‍यों न हो।

पढ़ें: क्‍या हुआ जब मोबाइल फोन पहन कर रैंप पर आई मॉडल ?

लिनोवो ने कहा अमेज़न, फ्लिपकार्ट और स्‍नैपडील नहीं है हमारे अधिकृत विक्रेता

पढ़ें: इंटरनेट और फेसबुक में ट्रेंडिंग कुछ तस्‍वीरें

तोशीबा भी इसी तरह की चेतावनी ई कार्मस साइटों को दे चुका है कि कंपनी कोई भी ऐसी प्रमोशनल स्‍कीम अपने मन से न निकालें जो कंपनी की साइट में दिए गए प्रोडेक्‍ट में न हो। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब किसी कंपनी ने इस तरह की चेतावनी दी हो, निकॉन ने भी सितंबर में फ्लिपकार्ट और स्‍नैपडील को अपना अधिकृत विक्रेता मानने से इंकार किया था जिस पर इन साइटों का कहना था वे साइट में ओरीजनल प्रोडेक्‍ट कंपनी की वारंटी के साथ दे रहे हैं।

Please Wait while comments are loading...
आधार धारकों को मोदी सरकार देगी एक लाख कैश, जानें वायरल मैसेज की सच्चाई
आधार धारकों को मोदी सरकार देगी एक लाख कैश, जानें वायरल मैसेज की सच्चाई
मुजफ्फरनगर रेल हादसा: 10 के मारे जाने की खबर, नोट करें हेल्‍पलाइन नंबर
मुजफ्फरनगर रेल हादसा: 10 के मारे जाने की खबर, नोट करें हेल्‍पलाइन नंबर
Opinion Poll

Social Counting