एप्पल को पछाड़कर अमेरिका की सबसे अमीर कंपनी बनी माइक्रोसोफ्ट

    माइक्रोसॉफ्ट कंपनी बाकी बड़ी कंपनियों को पीछे छोड़कर अमेरिका की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है। जिसका बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 753.3 अरब डॉलर है। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने एप्पल कंपनी को भी पीछे छोड़ दिया है। एप्पल 2010 के बाद से पहली बार दूसरे नंबर पर पिछड़ गई है। बता दें, एप्पल अगस्त में अमेरिका की पहली 1,000 अरब डॉलर वाली कंपनी बनी थी। जिसका मार्केट कैप शुक्रवार को घटकर 746.8 अरब डॉलर होगा। इसकी खास वजह आईफोन की उम्मीद से कम बिक्री होना है।

    एप्पल को पछाड़कर अमेरिका की सबसे अमीर कंपनी बनी माइक्रोसोफ्ट

     

    एप्पल से आगे निकला माइक्रोसोफ्ट

    आकंड़ों की मानें तो अमेजन 736.6 अरब डॉलर के साथ तीसरे नंबर पर है। साथ ही गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट 725.5 अरब डॉलर के साथ चौथे नंबर पर है। एमएसपॉवरयूजर ड़ॉट कॉम द्वारा पेश की गई रिपोर्ट से पता चलता है कि "माइक्रोसॉफ्ट ने अपने तीन प्रतिद्वंदियों को पछाड़ दिया है, जिसमें अल्फाबेट इंक. कंपनी भी शामिल है।

    यह भी पढ़ें:- एप्पल ने iPhone XR की उत्पादन पर लगाई रोक

    अपने अजूरे क्लाउड, गेमिंग और सरफेस लैपटॉप पोर्टफोलियो के कारोबार में वृद्धि से माइक्रोसॉफ्ट ने वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में 29.1 अरब डॉलर का राजस्व और 8.8 अरब डॉलर का मुनाफा दर्ज किया था। जिससे कंपनी के राजस्व में 19 फीसदी और मुनाफे में 34 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। इस दौरान कंपनी का परिचालन मुनाफा 29 फीसदी बढ़कर 10 अरब डॉलर हो गया। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्य नडेला ने बताया कि कंपनी के लिए "वित्त वर्ष 2019 की शानदार शुरुआत हुई है। जो हमारे नवाचार और ग्राहकों के भरोसे का परिणाम है।

    English summary
    The Microsoft company has left behind the Apple company too. Apple has lagged behind for the first time since 2010. Let Apple be the first US $ 1,000 billion company in August. Whose market cap will fall to $ 746.8 billion on Friday. Its special reason is to sell less than expected iPhone.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more