80% शॉपिंग घरों और ऑफिस में बैठकर करते हैं युवा

Written By:

ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज़ लोगों में काफी बढ़ा है। इस तरह की शॉपिंग को आज काफी आरामदायक माना जाता है, क्योंकि आपको इसके लिए कहीं बाहर नहीं निकलना पड़ता है। बस हाथ में होना चाहिए एक स्मार्टफोन और इंटरनेट कनेक्शन।

80% शॉपिंग घरों और ऑफिस में बैठकर करते हैं युवा

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऑनलाइन शॉपिंग के आने के बाद से करीब 80 प्रतिशत युवा स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर शॉपिंग करते हैं। इसका मतलब है कि शॉपिंग के लिए वो कहीं नहीं जाते हैं। हाल ही में हुए एक सर्वे से जानकारी मिली है।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

ईमार्केटर डॉट कॉम

ईमार्केटर डॉट कॉम की बुधवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक डिजिटल मार्केटिंग फर्म रिगालिक्स द्वारा किए गए सर्वे से पता चला है कि 83 फीसदी युवा स्मार्टफोन से ऑनलाइन खरीदारी करते हैं।

हर हफ्ते खरीदारी

इसके अलावा इनमें बहुत कम लोग हैं जो लगातार शॉपिंग करते हों। केवल 28 फीसदी प्रतिभागियों ने बताया कि वे हर हफ्ते अपने स्मार्टफोन से कुछ न कुछ खरीदारी करते हैं।

कुछ ऐसे भी हैं!

जबकि एक तिहाई लोग मासिक खरीदारी करते हैं और एक चौथाई लोग तिमाही आधार पर खरीदारी करते हैं।

एप से शॉपिंग

वहीं 94 फीसदी प्रतिभागियों ने स्वीकार किया कि वेबसाइट के मुकाबले एप से शॉपिंग करते हैं, क्योंकि यह उन्हें कहीं ज्यादा आसान लगता है। 

विज्ञापन नहीं लुभाते

दिलचस्प है कि केवल 19 फीसदी स्मार्टफोन प्रयोक्ताओं ने स्वीकार किया कि वे मोबाइल विज्ञापन से प्रभावित होते हैं। जबकि आधे प्रतिभागियों ने दावा किया कि वे विज्ञापनों से कभी प्रभावित नहीं होते, जबकि केवल एक तिहाई लोगों ने कहा कि मोबाइल पर दिखाए गए विज्ञापन पर वे कभी ध्यान भी नहीं देते।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

 

English summary
More than 80 percent of youngsters uses smartphone for shopping. Read more in Hindi.
Please Wait while comments are loading...
 EC bars 'Pappu': 'पप्पू' के इस्तेमाल पर लगी रोक तो परेश रावल को सूझी मसखरी,  लोगों के कहा PD लिख दो...
EC bars 'Pappu': 'पप्पू' के इस्तेमाल पर लगी रोक तो परेश रावल को सूझी मसखरी, लोगों के कहा PD लिख दो...
Pradyuman Murder Case: शक के दायरे से बाहर नहीं कंडक्‍टर अशोक, नहीं मिली बेल
Pradyuman Murder Case: शक के दायरे से बाहर नहीं कंडक्‍टर अशोक, नहीं मिली बेल
Opinion Poll

Social Counting