ई-सिगरेट का बढ़ता नशा

Posted By:

विश्व में युवाओं के बीच ई-सिगरेट का प्रचलन पिछले कुछ वर्षो में काफी तेजी से बढ़ा है। इसे देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने गुरुवार को दुनिया के तमाम देशों से ई-सिगरेट के उपयोग पर नजर रखने के लिए इसके इस्तेमाल के लिए दिशा-निर्देश का निर्माण करने की मांग की। डब्ल्यूएचओ की प्रतिनिधि एंजेला पट्ट ने कहा कि हाल के वर्षो में ई-सिगरेट की बिक्री में तेजी से इजाफा हुआ है, और हमारे पास इस समय ई-सिगरेट के लंबे इस्तेमाल से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव से संबंधित कोई अध्ययन मौजूद नहीं है।

पट्ट ने आगे कहा, "पिछेल 12 महीनों में ई-सिगरेट का कारोबार बढ़कर तीन अरब डॉलर पर पहुंच गया है, और ऐसा कहा जा रहा है कि भविष्य में धुम्रपान के लिए ई-सिगरेट का ही इस्तेमाल किया जाएगा।

पट्ट 21 शताब्दी में सार्वजनिक स्वास्थ्य की प्राथमिकताएं विषय पर आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने बताया कि अमेरिका में ई-सिगरेट की बिक्री में दोगुना का इजाफा हो चुका है और तंबाकू निर्माण से जुड़ी बड़ी कंपनियां इसके निर्माण की तरफ भी आकर्षित हुई हैं।

ई-सिगरेट निकोटिन प्रदान करने वाला ऐसा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है, जिसका उपयोग सीधे तंबाकू के सेवन के वैकल्पिक माध्यम के रूप में किया जाता है।

क्‍या होती है ई सिगरेट ?

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Secondhand Vapor

ई सिगरेट स्‍मोक की जगह वेपर निकालती है, इसे पर्सनल वेपोराइजर के नाम से भी पुकारते हें। सिगरेट के अंदर एक लिक्‍विड मौजूद होता है तो एक खास प्रक्रिया द्वारा भाप में बदल जाता है इससे ई सिगरेट पीने वाले को असली सिगरेट पीने का अहसास होता है।

e-cigarette Parts

ई सिगरेट तीन चीजों को मिलाकर बनती है पहली कार्ट्रीज ऐटमाइजर दूसरा बैट्री और इसका सबसे जरूरी भाग होता है लिक्विड ऐटमाइजर।

cartridge

ई सिगरेट में कार्ट्रेज एक प्‍लास्‍टिक से बना हुआ सिरा होता है जिसमें लिक्‍विड ऐटमाइजर के अंदर जाता है इसके दूसरे सिरे को स्‍मोकर मूंह में रखकर सिगरेट की तरह खींचता है।

Atomizers

ऐटमाइजर कार्ट्रेज में भरे लिक्‍विड को भाप में बदलने का काम करता है ये सिगरेट के बीच में लगा होता है।

Battery

सिगरेट को पावर देने के लिए इसमें एक बैट्री भी लगी होती है जो लिक्‍विड को भाप में बदलने के लिए पॉवर देती है।

liquid

ई सिगरेट में भरा लिक्‍विड प्रोपलीन ग्‍लाइसोल होता है जिसमें निकोटीन मिलाई जाती है ये असली सिगरेट जैसा नशा देता है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
अमेरिका के Spy प्‍लेन को चीनी लड़ाकू विमानों  ने घेरा, टक्‍कर होते-होते बची
अमेरिका के Spy प्‍लेन को चीनी लड़ाकू विमानों ने घेरा, टक्‍कर होते-होते बची
ससुराल पहुंचा नया-नवेला दूल्हा और पड़ोस की लड़की का कर दिया रेप
ससुराल पहुंचा नया-नवेला दूल्हा और पड़ोस की लड़की का कर दिया रेप
Opinion Poll

Social Counting