सरकार की टैबलेट वितरण योजना पर ग्रहण, एक भी कंपनी ने नहीं दिखाई रुची

Posted By:

पिछले साल हाई स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके छात्र-छात्राओं को टैबलेट वितरित करने की उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार की योजना पर एक बार फिर ग्रहण लग गया है। टैबलेट आपूर्ति के लिए दोबारा हुए टेंडर में किसी भी कंपनी ने रुचि नहीं दिखाई है।

पढ़ें: पाकिस्तान ने कहा इस्लाम विरोधी सामग्री हटाओं नहीं तो ब्‍लॉक कर देंगे गूगल

विधानसभा चुनाव के समय समाजवादी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में इंटर उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं को लैपटॉप और हाई स्कूल पास करने वाले को टैबलेट देने का वादा दिया था। लैपटॉप वितरण तो शुरू हो गया, जिसकी आपूर्ति

हेवलेट पैकार्ड(एचपी) कर रही है, लेकिन टैबलेट वितरण योजना में सरकार को निराशा हाथ लग रही है। शासन के अधिकारियों के मुताबिक सोमवार को कंपनियों से प्राप्त होने वाली टेक्‍लिकल बिड खोली जानी थी, लेकिन निविदा डालने के लिए कोई कंपनी आगे नहीं आई।

पढ़ें: केबल टीवी के बारे में एसएमएस से बताएगी सरकार

सरकार की टैबलेट वितरण योजना पर ग्रहण, एक भी कंपनी ने नहीं दिखाई रुची

गुजरे सात महीनों में यह दूसरा मौका है, जब टैबलेट की टेक्‍निकल बिड खोलने में राज्य सरकार को निराशा हाथ लगी है। टैबलेट के लिए टेंडर प्रक्रिया पिछले साल नवम्बर में शुरू हुई थी। पहली बार टैबलेट की आपूर्ति के लिए जब कंपनियों से निविदा आमंत्रित की गई तो सिर्फ एचसीएल ने टेंडर डाला।

सिर्फ एक कंपनी की ओंर से टेंडर होने के कारण राज्य सरकार ने उस टेंडर प्रक्रिया को निरस्त कर दिया था। इस साल दोबारा टेंडर प्रक्रिया शुरू हुई। अधिकारियों के मुताबिक कंपनियों से 10 जून को अपराह्न् तीन बजे तक निविदाएं आमंत्रित की गई थीं, लेकिन निर्धारित समयावधि बीतने पर एक भी कंपनी ने टेंडर नहीं डाला।

Please Wait while comments are loading...
24 घंटे बुआ के साथ रहने लगा था भतीजा, शराबी फूफा ने प्‍यार से बुलाया और फिर...
24 घंटे बुआ के साथ रहने लगा था भतीजा, शराबी फूफा ने प्‍यार से बुलाया और फिर...
VIDEO: 7 साल के बेटे ने बताया, क्यों मम्मी ने उतार दिया पापा को मौत के घाट ?
VIDEO: 7 साल के बेटे ने बताया, क्यों मम्मी ने उतार दिया पापा को मौत के घाट ?
Opinion Poll

Social Counting